ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश सीतापुरनदी की तलहटी में फिर बाघ की ने चहलकदमी

नदी की तलहटी में फिर बाघ की ने चहलकदमी

महोली, संवाददाता। नदी की तलहटी में एक बार फिर जंगली जानवर ने चहलकदमी की है।

नदी की तलहटी में फिर बाघ की ने चहलकदमी
हिन्दुस्तान टीम,सीतापुरThu, 07 Dec 2023 11:00 PM
ऐप पर पढ़ें

महोली, संवाददाता। नदी की तलहटी में एक बार फिर जंगली जानवर ने चहलकदमी की है। ग्रामीणों की सूचना पर वन विभाग के अधिकारियों ने इलाके में कांबिंग की। अधिकारियों के मुताबिक खेतों में बाघ के ताजा पगचिन्ह देखे गए हैं। गांववालों को जंगली जानवर को लेकर सतर्क किया गया है। महोली वन रेंज के गांव चन्द्रा में शायद ही कोई माह बीतता हो जिसमें जंगली जानवर की आमद न होती है। इस बावत ग्रामीणों द्वारा अक्सर सोशल मीडिया के माध्यम से व विभाग को जानकारी देकर सूचित किया जाता रहा है। गुरुवार को सुबह नदी किनारे खेत में बुआई करने गए किसान राजा ने अपने खेत में बाघ के ताजा पगचिन्ह देखे और इसकी जानकारी वन विभाग के अधिकारियों को दी। जिसके बाद वन दरोगा संतराम और वन रक्षक नंदलाल ने वहां पहुंचकर पगचिन्हों की जांच की और इलाके में कांबिग करने के बाद गांव वालों को सतर्क रहने को कहा। अधिकारियों ने ग्रामीणों से देर शाम खेतों की ओर न जाने तथा दिन में समूहों में जाने की सलाह दी।

बीते दिन वन रेंज के आसपास रही बाघ की आमद

वन रेंज कार्टरगंज के पास जंगलों में बीते दिन बाघ की आमद दिखी। ग्रामीणों ने बताया कि बाघ के पगचिन्ह ताजा लग रहे हैं। कयास लगाए जा रहे हैं, जंगली जानवर लगातार महोली वन क्षेत्र में अपना डेरा जमाए हैं। वहीं विभागीय अधिकारी इस बात से इनकार कर रहे हैं।

चन्द्रा गांव में नदी की तलहटी में गुरुवार को बाघ के ताजा पगचिन्ह देखे गए हैं। विभाग की टीम ने वहां जाकर पगचिन्हों की जांच की और प्रथम दृष्टया पगचिन्ह बाघ के पाए जाने पर ग्रामीणों को सतर्क रहने को कहा गया है।-केएन भार्गव, क्षेत्रीय वनाधिकारी महोली वन रेंज।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें