ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश सीतापुरकिसानों ने आवारा मवेशियों को पकड़ा,पुलिस से झड़प

किसानों ने आवारा मवेशियों को पकड़ा,पुलिस से झड़प

मिश्रिख/मछरेहटा,संवाददाता। आवारा मवेशियों को पकड़कर जंगल में लिए जा रहे ब्लाक कर्मचारियों और...

किसानों ने आवारा मवेशियों को पकड़ा,पुलिस से झड़प
हिन्दुस्तान टीम,सीतापुरWed, 21 Feb 2024 10:55 PM
ऐप पर पढ़ें

मिश्रिख/मछरेहटा,संवाददाता। आवारा मवेशियों को पकड़कर जंगल में लिए जा रहे ब्लाक कर्मचारियों और किसानों के बीच झड़प हो गई। किसानों ने दो घंटे कल्ली मछरेहटा रोड जाम कर दिया। किसानों का आरोप था कि मुख्यमंत्री के आने पर मवेशियों को पकड़ा गया है। पुलिस ने उनके साथ अभद्रता की है।

दरअसल बुधवार को नैमिषारण्य में सीएम का कार्यक्रम था। इसे लेकर प्रशासन सतर्क था। ब्लाक के कर्मचारियों को लगवाकर आवारा मवेशियों को पकड़वा कर आठ ट्रैक्टर ट्राली से उन्हें जंगल ले जाया जा रहा था। इस बीच किसानों को भनक लग गई। एकजुट हुए ग्रामीणों ने गोवंश लदी ट्रैक्टर-ट्रालियों को घेर लिया और नैमिषारण्य-सिधौली मार्ग को अवरूद्ध कर जाम लगा दिया। इससे करीब दो घंटे तक आवागमन प्रभावित रहा, हालांकि बाद में पुलिस प्रशासन ने मान मनौव्वल कर मामले को शांत कराया। बताया जा रहा है कि सीएम के आगमन को लेकर आवारा गोवंशों की धड़पकड़ की गई थी। और आठ 8 ट्रालियों में करीब 300 गौवंशों को भरकर मछरेहटा क्षेत्र के कल्ली चौराहा से मछरेहटा मार्ग पर बीच में ग्वाली पुल के पास स्थित जंगल में छोड़ने लिए जा रहे थे। आसपास के गांव ग्वाली, उचौली, ग्रंट आदि के किसान जुट गए। गोवंशों को वहां छोड़ने का विरोध करते हुए कल्ली चौराहा से मछरेहटा मार्ग को जाम कर दिया। थाना मछरेहटा के एसआई रामनरायण के साथ कई पुलिस कर्मियों ने मौके पर पहुंचकर किसानों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन किसानों ने उनकी एक न सुनीं।

गांवों में मवेशियों को छोड़ने से भड़के किसान : प्रदर्शनकारी किसानों ने कहा कि इन गांवंशों को जहां से पकड़ कर लाया गया है, वहीं इनको छोड़ा जाय। वह इनको अपने गांवो में छोड़ने नहीं देंगे। किसानों का कहना है कि यहां पर पहले से सैकड़ों गोवंश फसलों को बर्बाद कर रहे हैं और इन गोवंशों से फसलों की सुरक्षा कौन करेगा। इस बात को लेकर पुलिस और किसानों के बीच काफी नोक झोंक भी हुई, लेकिन किसानों ने ग्वाली जंगल में गोवंशों को छोड़ने नहीं दिया। गोवंशों को ग्वाली के पशुआश्रय स्थल में संरक्षित कर दिया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें