ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशसूरज के कहर से तप रही तराई, राहत की उम्मीद नहीं

सूरज के कहर से तप रही तराई, राहत की उम्मीद नहीं

सिद्धार्थनगर, निज संवाददाता। सूरज के कहर से तराई तप रही है। देर शाम तक इसकी

सूरज के कहर से तप रही तराई, राहत की उम्मीद नहीं
हिन्दुस्तान टीम,सिद्धार्थTue, 28 May 2024 12:30 AM
ऐप पर पढ़ें

सिद्धार्थनगर, निज संवाददाता।
सूरज के कहर से तराई तप रही है। देर शाम तक इसकी तपन का अहसास परेशान करता है। ऐसे में गर्मी से बेहाल लोगों को अब राहत की तलाश है। सूखे जलाशय व खराब हैंडपंप इंसान ही नहीं पशु पक्षियों की भी मुश्किलें बढ़ा रहे हैं।

तराई में उमस भरी गर्मी से लोग बेहाल हैं। मई माह बीतने के साथ ही सूरज की तपिश दोगुनी हो गई है। वहीं चटख धूप के साथ चल रहीं गर्म हवा लोगों को घरों के अंदर भी गर्मी का अहसास करवा रही हैं। सोमवार को भी दिन के समय लोग भीषण गर्मी से बेहाल रहे। सुबह के समय से ही गर्म हवा चली।

वहीं दिन चढ़ने के साथ ही उमस व तपिश ने अपना शिकंजा कसा और दोपहर होते-होते गर्मी चरम पर पहुंच गई। तपिश के साथ चली गर्म हवा से लोगों को घरों के अंदर भी चिपचिपी गर्मी का अहसास हुआ। अधिकांश लोग दिन के समय घरों में रहे और गर्मी दूर करने के इलेक्ट्रानिक उपकरणों के किनारे बैठे नजर आए।

वहीं दिन के समय बाजारों में भी सन्नाटा देखने को मिला। जरूरी होने पर ही लोग घरों से बाहर निकले। इस दौरान लोगों को गमछे व दुपट्टे के सहारे सिर व चेहरा ढके देखा गया। जिले में गर्म पछुआ हवा के कारण लोग घर से बाहर निकलने से परहेज करने लगे हैं। इस कारण चाहे नगर हो या गांव मुख्य मार्ग व गलियां सूनी दिखाई दीं।

चढ़ते पारे के साथ ही बढ़ी अघोषित बिजली कटौती ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी है। बिजली की आवाजाही के कारण लोगों को न तो घरों मे चैन मिल रहा है और न ही घर के बाहर। लगातार चढ़ते पारे के सूख चुके तालाब व जलाशय लोगों की मुश्किलें और बढ़ा रहे हैं।

पालतू आवारा व जंगली जीव जंतु पानी के लिए बेहाल हो आबादी की तरफ पलायन कर रहे हैं। वही नगर सहित गांवों में खराब हैंडपंप लोगों की मुश्किलें बढ़ा रहे है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।