DA Image
28 सितम्बर, 2020|11:24|IST

अगली स्टोरी

नेपाल में प्रतिमा विसर्जन में बवाल, पुलिस फायरिंग में भारतीय की मौत, कर्फ्यू

नेपाल में प्रतिमा विसर्जन में बवाल, पुलिस फायरिंग में भारतीय की मौत, कर्फ्यू

नेपाल के कृष्णानगर कस्बे के झंडेनगर में प्रतिमा विसर्जन शोभायात्रा में रास्ते को लेकर बुधवार रात हुआ बवाल गुरुवार को उग्र हो गया। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पिकेट व ट्रैफिक पुलिस बीट को फूंक दिया। नेपाली पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को नियंत्रित करने के लिए पहले आंसू गैस के गोले छोड़े फिर फायरिंग कर दी। इसमें गोली लगने से नेपाल में चाय की दुकान चला रहे एक भारतीय युवक की मौत हो गई। पथराव में आधा दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो गए। कस्बे में कर्फ्यू लगा दिया गया है। प्रतिमाएं जहां की तहां रुकी हुई हैं। तनाव को देखते हुए भारत-नेपाल सीमा सील कर दी गई है और भारतीय सीमा में बड़ी संख्या में पुलिस बल व एसएसबी जवान तैनात कर दिए गए हैं।

बुधवार रात लगभग साढ़े आठ बजे कृष्णानगर में स्थापित मां लक्ष्मी की प्रतिमाओं को विसर्जन के लिए ले जाया जा रहा था। इस बीच दूसरे पक्ष से रास्ते को लेकर विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ा कि दोनों पक्ष की ओर से ईंट-पत्थर चलने लगे। पुलिस के कंट्रोल से भीड़ बाहर हो रही थी। समझाने के बाद भी नहीं माने तो पुलिस ने पहले लाठीचार्ज किया फिर आंसू गैस के गोले दागे। पत्थरबाजी में आधा दर्जन लोगों को चोटें आईं। इसमें नेपाल प्रहरी के जवान भी शामिल हैं। पूरी रात तनाव की स्थिति बनी रही। गुरुवार सुबह प्रतिमा विसर्जन पर हुए पथराव को लेकर उपद्रवियों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग को लेकर लोगों ने चक्का जामकर करते हुए विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। दिन में करीब साढ़े ग्यारह बजे नेपाल पुलिस ने भीड़ को हटाने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े। इससे भीड़ उग्र हो गई और कस्बे के बस पार्क स्थित पुलिस पिकेट और ट्रैफिक पुलिस बीट को आग के हवाले कर दिया। पेट्रोल से भरी बोतलें फेंकने लगे।

भीड़ को तितर-बितर करने के लिए नेपाली पुलिस ने फायरिंग शुरू कर दी। 10 राउंड हुई फायरिंग में भारतीय युवक सूरज कुमार पांडेय (22) पुत्र स्व. सतीश पांडेय निवासी मिल कॉलोनी थाना ढेबरुआ की बाईं आंख में गोली लग गई। इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। वह मूलत: बिहार के पटना का रहने वाला था। कृष्णानगर (नेपाल) में चाय की दुकान लगाता था। उसके परिवारीजन 20 साल से नेपाल में ही एक जनप्रतिनिधि के घर रह कर काम करते हैं और वर्तमान समय में नेपाली जनप्रतिनिधि के बढ़नी कस्बे के मिल कॉलोनी वाले मकान में रहते हैं। पथराव और लाठीचार्ज में नेपाल पुलिस के जवान समेत कई अन्य घायल हो गए। गंभीर रूप से घायलों को भैरहवा अस्पताल रेफर कर दिया गया है। फायरिंग के बाद स्थिति और भी तनावपूर्ण होने की वजह से कृष्णानगर कस्बे में दोपहर 12 बजे से कर्फ्यू लगा दिया गया। लोग घरों में कैद हो गए हैं। प्रतिमाएं जहां-तहां रुकी हुई हैं। लोगों की मांग है कि पहले उपद्रवियों के खिलाफ कार्रवाई हो फिर विसर्जन करेंगे।

सीमा सील, भारी पुलिस बल तैनात

भारतीय सीमा में भी चौकसी तेज कर दी गई है। सीमा सील कर दी गई है। इंडो-नेपाल सीमा पर ढेबरुआ थाना, बढ़नी चौकी के अलावा अतिरिक्त फोर्स तैनात कर दी गई है। एसडीएम शोहरतगढ़ अनिल कुमार व सीओ सुनील कुमार सिंह रात से ही सीमा पर कैंप कर रहे हैं। हालांकि, भारतीय क्षेत्र में स्थिति आम दिनों की तरह सामान्य है।

सीमा पर वाहनों के पहिए थमे

कर्फ्यू लगने से भारतीय क्षेत्र बढ़नी की ओर से कृष्णानगर के रास्ते नेपाल के अंदरूनी हिस्सों में जाने वाले वाहनों व आम जनमानस की आवाजाही पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया गया है। नेपाल सीमा पर गुरुवार सुबह पहुंचे आम लोगों को नेपाली सुरक्षाकर्मियों ने रोक दिया। बढ़नी कस्बे के बाहरी हिस्से ढेबरुआ व पचपेड़वा राष्ट्रीय राजमार्ग 730 पर छह किलोमीटर से ज्यादा लंबी वाहनों की कतार लग चुकी थी, जो लगातार बढ़ती जा रही है। वाहनों के पहिया थमने से कच्चा माल लेकर नेपाल जा रहे ट्रकों के सामने बड़ी मुसीबत है। अगर भारी वाहनों को एक-दो दिन और रोका गया तो सामान सड़ सकता है।

कृष्णानगर में पसरा सन्नाटा

नेपाल का कृष्णानगर कस्बा जो भारतीय ग्राहकों ने सुबह से देर गए तक गुलजार रहता था, वहां गुरुवार को सिर्फ नेपाली पुलिस के बूटों की आवाज गूंजती रही। बाजार में सन्नाटा पसरा था। दुकानों के शटर गिरे थे। लोग अपने घरों के अंदर कैद थे।

नेपाल में हुए उपद्रव की जानकारी है। रात से ही सीमा पर फोर्स बढ़ा दी गई है। मजिस्ट्रेट व सीओ कैंप कर रहे हैं। नेपाल की गतिविधियों पर नजर बनी हुई है। भारतीय क्षेत्र में आम दिनों की तरह शांति है।

विजय ढुल, एसपी

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Ruckus in Nepal Indian death in police firing curfew