ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशआशनाई, ब्लैकमेलिंग के जाल में उलझे प्रशांत को गंवानी पड़ी जान

आशनाई, ब्लैकमेलिंग के जाल में उलझे प्रशांत को गंवानी पड़ी जान

आशनाई, ब्लैकमेलिंग के जाल में उलझे प्रशांत को गंवानी पड़ी जानआशनाई, ब्लैकमेलिंग के जाल में उलझे प्रशांत को गंवानी पड़ी जानआशनाई, ब्लैकमेलिंग के जाल...

आशनाई, ब्लैकमेलिंग के जाल में उलझे प्रशांत को गंवानी पड़ी जान
हिन्दुस्तान टीम,सिद्धार्थFri, 23 Feb 2024 02:15 AM
ऐप पर पढ़ें

सिद्धार्थनगर। निज संवाददाता
प्रशांत कुमार गुप्त ने पत्नी के रहते इश्क लड़ने का जो खेल रचा था उसका ही शिकार हो गया। उसने एक नहीं दो-दो महिलाओं से अवैध संबंध बना रखे थे। एक को ब्लैकमेल कर वासना की आग बुझा रहा था जो दूसरी को अपनी जाल में फंसा का उसका शोषण कर रहा था। दो महिलाओं से इश्क संबंध रखने व ब्लैक करने की आदत ने आखिरकार उसकी जान ही ले ली।

सदर थाना क्षेत्र के सांड़ी का रहने वाला प्रशांत कुमार (35) रंगीन मिजाज था। उसने अपनी जाल में शिखा चौरसिया पुत्री राजकुमार उर्फ बजरंगी चौरसिया निवासी बदौली खुर्द थाना बांसी हाल पता करौंदा मसिना थाना जोगिया उदयपुर को फंसा रखा था। उसने उसका वीडियो भी बना रखा था जिससे ब्लैकमेल कर संबंध बना रहा था। प्रशांत ने यह जानते हुए भी शिखा चौरसिया पहले से ही विजय गुप्त पुत्र स्व.रामलखन गुप्त निवासी रानीजोत पोस्ट मस्कनवा थाना छपिया जनपद गोंडा के साथ लिव इन पार्टनर है फिर भी संबंध बनाए था। यह बातें शिखा और विजय ने पुलिस को दिए बयान में भी कुबूल की है। इसके अलावा प्रशांत ने अपने जाल में एक नर्स को फंसा रखा था उससे भी उसके कथिततौर पर गलत संबंध थे। नर्स के बेटे को इसकी जानकारी हो चुकी थी। एक ओर जहां ब्लैक मेलिंग से शिखा परेशान थी तो दूसरी ओर अपनी मां से अवैध संबंध को लेकर आयुष भी प्रशांत से खार खाए बैठा था। शिखा, शिखा के लिव इन पार्टनर विजय व आयुष उर्फ संगम मिश्र एक हो गए और प्रशांत को रास्ते से हटाने की योजना तैयार कर ली थी। 17 फरवरी को शिखा ने प्रशांत को अपने रूम पर बुला लिया जिसके इरादों को वह भांप नहीं सका था। पहले से ही छिप कर विजय व आयुष घर में बैठे थे। पहुंचने के कुछ देर बाद तीनों उसपर टूट पड़े और उसकी जिंदगी का अंत कर दिया।

किराए के मकान में रहती थी शिखा

बांसी थाना क्षेत्र की रहने वाली शिखा चौरसिया ने करौंदा मसिना में एक मकान किराए पर ले रखा था। वहां पर वह अपने लिव इन पार्टनर विजय कुमार गुप्त के साथ रहती थी। इस बीच प्रशांत की भी महिला व उसके लिव इन पार्टनर से पहचान हो गई थी। कुछ ही दिनों बाद शिखा व प्रशांत के बीच की दूरी मिट गई और दोनों के बीच अवैध संबंध स्थापित हो गए थे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें