DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  कोरोना की तीसरी लहर के खिलाफ हथियार बनेंगे पीकू-मिनी पीकू
सिद्धार्थ

कोरोना की तीसरी लहर के खिलाफ हथियार बनेंगे पीकू-मिनी पीकू

हिन्दुस्तान टीम,सिद्धार्थPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 05:41 AM
कोरोना की तीसरी लहर के खिलाफ हथियार बनेंगे पीकू-मिनी पीकू

सिद्धार्थनगर। निज संवाददाता

इंसेफेलाइटिस मरीजों के निपटने के लिए सीएचसी-पीएचसी व जिला अस्पताल में बने पीकू (पीडियाट्रिक इंटेसिव केयर यूनिट) व मिनी पीकू कोरोना की तीसरी लहर में हथियार बनेंगे। तीसरी लहर का अंदेशा मान इसे बेहतर किया जा रहा है। वहीं जिला अस्पताल में 50-50 बेड के नए पीकू व आइसोलेशन वार्ड तैयार करने की योजना चल रही है। एमसीएच विंग में बच्चों के लिए 50 बेड रिजर्व भी किए गए हैं।

स्वास्थ्य विभाग कोरोना के सेकेंड वेब के हल्का होते ही तीसरे वेब से निपटने की तैयारी में जुट गया है। विशेषज्ञों के अनुसार तीसरी लहर में बच्चे संक्रमित हों या मौत हो इसके पहले ही कोरोना रोधी वायरस से निपटने के पूरे बंदोबस्त किए जा रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग जिला अस्पताल में बने पीआईसीयू के साथ-साथ सीएचसी बेंवा (डुमरियागंज), सीएचसी बंसतुपर (बांसी) में तीन-तीन बेड के बने मिनी पीकू में धूंल फांक रहे यंत्रों को सुद्दढ़ करने में जुट गया है। इसके अलावा जिला अस्पताल में 50 बेड के पीआईसीयू व 50 बेड के आइसोलेशन वार्ड बनाने का शासन ने निर्देश दिया है। इस पर काम भी शुरू हो गया है। इसके अलावा एमसीएच विंग में बच्चों के लिए 50 बेड रिजर्व किए गए हैं।

यहां बने हैं ईटीसी सेंटर

स्वास्थ्य केंद्र बर्डपुर, उस्का बाजार, शोहरतगढ़, इटवा व खेसरहा में चार-चार बेड के ईटीसी बने हैं। जबकि बढ़नी, मिठवल, खुनियांव, भनवापुर, लोटन व जोगिया में दो-दो बेड के ईटीसी (इंसेफेलाइटिस ट्रीटमेंटर सेंटर) बने हैं। इन केंद्रों पर चार स्टाफ नर्स व एक चिकित्सक लगे हैं। तीसरी लहर में इन्हेंभी उपयोग किया जाएगा।

जिला अस्पताल में 15 बेड का पीकू

जिला अस्पताल में इंसेफेलाइटिस मरीजों के लिए 15 बेड का पीकू बना है। यह वेंटिलेटर युक्त है। शासन के निर्देशानुसार हर बेड पर दो स्टाफ नर्स होने चाहिए। वर्तमान में 27 स्टाफ नर्स और बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. संजय चौधरी व डॉ. शैलेंद्र निगरानी में इसे संचालित किया जा रहा है। तीसरी लहर के लिए इसे भी तैयार किया गया है।

तीसरी लहर से तैयारी एक नजर में

व्यवस्था बेड

पीकू 15

मिनी पीकू 3-3 बेड

ईटीसी 2-4 बेड (सभी सेंटर पर)

आइसोलेशन 50 बेड (एमसीएच विंग)

पीकू नया 50 बेड (जिला अस्पताल)

आइसोलेशन 50 बेड (जिला अस्पताल)

बोले जिम्मेदार

जिला अस्पताल में 50-50 बेड के पीकू व आइसोलेशन वार्ड बनाने के लिए शासन से निर्देश मिला है। इसमें लगने वाले बेड वेंटिलेटर युक्त हाईटेक होंगे। वार्ड बनाने की तैयारी चल रही है।

डॉ. नीना वर्मा, सीएमएस

कोरोना की तीसरी लहर सीएचसी-पीएचसी पर बने मिनी पीकू-ईटीसी हथियार बनेंगे। व्यवस्थाओं को बेहतर करने का निर्देश गया है। वायरस से निपटने की पूरी तैयारी है।

डॉ. संदीप चौधरी, सीएमओ

संबंधित खबरें