ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशखाद की किल्लत बरकरार, किसान परेशान

खाद की किल्लत बरकरार, किसान परेशान

सिद्धार्थनगर। हिन्दुस्तान टीम शोहरतगढ़ क्षेत्र के किसान खाद की किल्लत से जूझ रहे हैं।...

खाद की किल्लत बरकरार, किसान परेशान
हिन्दुस्तान टीम,सिद्धार्थSat, 04 Dec 2021 01:30 PM
ऐप पर पढ़ें

सिद्धार्थनगर। हिन्दुस्तान टीम

शोहरतगढ़ क्षेत्र के किसान खाद की किल्लत से जूझ रहे हैं। गेहूं व सरसों की बुवाई को लेकर जहां एक तरफ किसान डीएपी खाद के लिए परेशान हैं तो वहीं पर अब दूसरी ओर गेहूं फसल सिंचाई के बाद कुछ किसान यूरिया खाद की किल्लत से परेशान हैं। अच्छी फसल उपज के लिए किसानों को यूरिया, पोटाश आदि उर्वरक की आवश्यकता है। किसान गेहूं की सिंचाई करने के बाद खाद की खरीदारी के लिए दुकानों का चक्कर काट रहे हैं लेकिन मिल नहीं पा रही है।

तुलसियापुर, झुलनीपुर, सिसवा, गणेशपुर, बानगंगा, चिल्हिया, खुनवा, पकड़ी बाजार, शोहरतगढ़ आदि स्थानों के प्राइवेट खाद दुकानों से यूरिया खाद नदारद है। साधन सहकारी समितियों से भी किसानों को यूरिया खाद नहीं मिल पा रही है। जरूरत पर खाद न मिलने से किसान काफी परेशान हैं। अगर किसी दुकान पर यूरिया व पोटाश की उपलब्धता है, तो दुकानदार मनमानी कीमत पर खाद बेचने के लिए आमादा हैं।

किसानों के खाद की समस्या के लिए क्षेत्र के किसान मुश्ताक अहमद, अशोक चौधरी, संतोष यादव, राजेंद्र यादव आदि का कहना है कि जरूरत पड़ने पर किसानों को खाद की उपलब्धता नहीं हो पाती है। जिला कृषि अधिकारी सीपी सिंह ने बताया कि जनपद के किसानों को यूरिया खाद की किल्लत से जल्द ही निजात मिलेगी। सप्ताह भर के भीतर साधन सहकारी समितियों को 60 हजार बोरी व प्राइवेट दुकानदारों को 24 हजार बोरी यूरिया उपलब्ध कराने का प्रयास किया जा रहा है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें