DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  श्रावस्ती  ›  श्रावस्ती:बाजार खुले, कहीं दिखी भीड़ तो कहीं रहा सन्नाटा

श्रावस्तीश्रावस्ती:बाजार खुले, कहीं दिखी भीड़ तो कहीं रहा सन्नाटा

हिन्दुस्तान टीम,श्रावस्तीPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 05:20 PM
श्रावस्ती:बाजार खुले, कहीं दिखी भीड़ तो कहीं रहा सन्नाटा

श्रावस्ती। संवाददाता

31 दिन के बाद मंगलवार को बाजार खुल गए। प्रशासन की ओर से सुबह सात बजे से शाम सात बजे तक दुकानों को खोलने की अनुमति मिलने से दुकानदार खुश हैं। वहीं ग्राहक भी सामान की खरीदारी करने के लिए बाजारों में पहुंचे। मंगलवार सुबह से ही आंधी और बरसात का असर बाजारों में साफ दिखा। कारण कि बाजारों में पहले की तरह रौनक नहीं दिखी। दुकानदारों ने समय से दुकान खोला और ग्राहकों का इंतजार करते रहे। कुछ बाजारों में शाम के समय भीड़ दिखी। तो कुछ में ग्राहक कम दिखे।

कोरोना के बढ़ते मामलों को देख कर प्रदेश सरकार की ओर से आंशिक कर्फ्यू की घोषणा के बाद से बाजार बंद थे। प्रशासन की ओर से रोस्टर तय करके कभी सप्ताह में एक दिन तो कभी दो दिन परचून की दुकानों को खोले जाने की अनुमति दी थी। इससे दुकानदार और ग्राहक परेशान थे। एक माह के बाद मंगलवार को फिर से दुकानें खुल गईं तो दुकानदार खुश हो गए। वहीं ग्राहक भी बाजारों में पहुंचने लगे।

हिन्दुस्तान की ओर से पांच रिपोर्टर पांच स्थान के तहत मंगलवार को बाजारों का हाल जाना गया। इस पर दुकानदारों ने बाजार खुलने पर खुशी जताई और कोरोना के घटने मामलों के बीच सरकार के इस निर्णय का स्वागत किया।

समय 12.30

भिनगा में नहीं दिखी भीड़, इक्का दुक्का ग्राहक ही रहे

मंगलवार को भिनगा बाजार में सभी दुकानें खुली रहीं। दुकानों पर इक्का दुक्का ग्राहक भी दिखे। लेकिन किसी भी दुकान पर भीड़ नहीं दिखी। कुछ दुकारदार मास्क लगाए रहे लेकिन अधिकांश लोगों ने मास्क लगाना जरूरी नहीं समझा। एक दुकानदार साधूराम ने बताया कि सुबह आंधी और पानी आ जाने से मौसम खराब हो गया था। इसलिए ग्राहक कम हैं। मौसम ठीक होने पर ग्राहकों की संख्या बढ़ेगी। सरकार के इस निर्णय से सभी दुकानदार खुश हैं। बंद दुकानों के कारण सभी व्यापारियों को घाटा उठाना पड़ा है।

समय 1.00 बजे

इकौना में रही चहल पहल, बरसात का दिखा असर

इकौना बाजार में दोपहर एक बजे चहल पहल रही। हमेशा की तरह ग्राहकों की संख्या तो नहीं रही। लेकिन सभी दुकानें खुली रहीं। संजय पार्क से भिनगा रोड़ और बहराइच बलरामपुर मार्ग की दुकानों पर इक्का दुक्का ग्राहक ही दिखे। एक दुकादार दुर्गेश कुमार ने बताया कि पहले दिन दुकानें खुली हैं। इसलिए गांव देहात के ग्राहक कम आए हैं। इसके साथ ही सुबह आंधी के साथ तेज बरसात हुई थी। इसका असर बाजार पर पहले दिन पड़ा है। अगले दिन से बाजार में ग्राहकों की संख्या बढ़ेगी।

समय 12 बजे

गिलौला बाजार में कुछ दुकानों में लटक रहा था ताला

गिलौला में जिस प्रकार से कोरोना कर्फ्यू के दौरान लोगों का आवागमन रहता था। ठीक उसी प्रकार अनलॉक हो जाने के बाद भी स्थिति रही। दुकान खोलने के बाद दुकानदार उत्साहित रहे। ग्राहक कम आने के कारण दुकानदार मायूस नजर आए। कुछ दुकानदार मास्क लगाए रहे तो कुछ लोगों ने मास्क पहनना उचित नहीं समझा। जबकि कई दुकानों पर सेनेटाइजर की शीशी जरूर दिखी। दुकानदार राम लाल ने बताया कि सरकार ने दुकानों को खुलवा कर सराहनीय पहल की है। खरीदारी करने के लिए लोग आएंगे।

समय 1.30 बजे

जमुनहा बाजार में रहा मिला जुला असर

सरकार की ओर से दुकानों को खोलने के आदेश के बाद सुबह से दुकानें खुल गईं। लेकिन बाजार में ग्राहकों की संख्या कम दिखी। दोपहर में यही स्थिति रही। लेकिन कुछ दुकानों पर ग्राहक रहे। परचून और ज्वैलरी की दुकान पर ग्राहक बैठे दिखाई दिए। परचून की दुकान पर कुछ दुकानदार मास्क लगाए दिखे। लेकिन ग्राहकों में कोरोना का खौफ नहीं दिखा। जिन ग्राहकों ने मास्क लगा रखा था। वे भी गले में लटकाए दिखे। बाजार में पुलिस कहीं भी नहीं दिखे।

समय 2 बजे

लक्ष्मनपुर बाजार में भरा रहा पानी, छिटपुट दुकानों पर दिखे ग्राहक

सुबह हुई बरसात का लक्ष्मनपुर में असर दिखा। सड़क पर दुकानों के सामने जलभराव की स्थिति बनी रही। बाजार में दुकानें तो खुली रहीं। लेकिन आमतौर पर दुकानें सूनी रहीं। परचून की दुकानों कर इक्का दुक्का ग्राहक दिखे। जबकि इलेक्ट्रानिक, कपड़े आदि की दुकानों पर ग्राहक नहीं रहे। सड़क पर जलभराव होने के कारण वाहनों के निकलने पर दुकानदार बचते दिखे। वाहनों के पहिए से निकलने वाले पानी के छीटे से बचने के लिए सड़क पर आने जाने वाले लोग भी बचते दिखे।

संबंधित खबरें