DA Image
17 जनवरी, 2021|6:17|IST

अगली स्टोरी

श्रावस्ती:सत्यापन के लिए नामित नोडल अधिकारियों को बताया गया तरीका

default image

मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में गांव में तैनात किये गये नोडल अधिकारियों के साथ बैठक आयोजित की गई। बैठक में सभी ग्रामपंचायतों का स्थलीय सत्यापन करते हुए पाई गई कमियों का निराकरण करने के लिए मुख्य विकास अधिकारी ने निर्देशित किया।

कोविड-19 के प्रसार के रोकथाम के लिए किये जा रहें कार्यो का सत्यापन करने के लिए शासन स्तर पर नामित नोडल अधिकारी के प्रस्तावित भ्रमण कार्यक्रमों के तहत गांवों में कोविड रोकथाम के लिए किये जा रहे कार्यो का सत्यापन करने के लिए ब्लाकों में 15 नोडल अधिकारियों की तैनाती की गई है। समीक्षा बैठक में मुख्य विकास अधिकारी कुमार हर्ष ने नोडल अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे गांव में जब जाये तो निगरानी समितियों के सक्रियता की समीक्षा करें और ये देखे कि उनके पास इंफारेड थर्मामीटर, पल्स आक्सीमीटर दुरुस्त है या नहीं, अतिरिक्त सेल है या नहीं, रोज डाटा भेजने का तरीका क्या है इसकी पूरी पड़ताल करें। गांव की गलियों की सफाई ग्राम प्रधान व सचिव से कहकर सफाईकर्मियों के माध्यम से करायें। गांव में जल जमाव हो तो उसकी निकासी की व्यवस्था करायें। कूड़ा-करकट निपटान की व्यवस्था तथा चूना छिड़काव तथा सैनिटाइजेशन, ब्लीचिंग पाउडर, फोगिंग आदि की व्यवस्था सुनिश्चित करायें। साथ ही साथ पंचायत भवन में शौचालय की साफ-सफाई, कैम्पस की साफ-सफाई, स्कूल शौचालय/कैम्पस की साफ-सफाई की व्यवस्था, वास वेसिंग एवं मूत्रालय की साफ-सफाई अवश्य देखें। सामुदायिक शौचालय का निर्माण कार्य, व्यक्तिगत शौचालय का निर्माण, जीर्णशीर्ण शासकीय भवन को देख कर उसके स्थित की रिपोर्ट प्रेषित करें। इस मौके पर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. एपी भार्गव, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. मुकेश मातनहेलिया, उप मुख्य चिकित्साधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी किरन, जिला कृषि अधिकारी आरपी राना सहित सभी नोडल अधिकारी मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Shravasti Method given to designated Nodal Officers for verification