DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  श्रावस्ती  ›  अब ओपीडी ड्यूटी संभालेंगे अन्य कार्यों में लगे 71 डॉक्टर
श्रावस्ती

अब ओपीडी ड्यूटी संभालेंगे अन्य कार्यों में लगे 71 डॉक्टर

हिन्दुस्तान टीम,श्रावस्तीPublished By: Newswrap
Mon, 07 Jun 2021 07:10 PM
अब ओपीडी ड्यूटी संभालेंगे अन्य कार्यों में लगे 71 डॉक्टर

हिन्दुस्तान पड़ताल

-पूर्व समय अनुसार ही संचालित की जारी ओपीडी सेवाएं

-ओपीडी शुरू होने से लोगों को मिली राहत

श्रावस्ती। संवाददाता

कोरोना के घटते आंकड़ों के बीच राज्य सरकार की ओर से अस्पतालों में ओपीडी सेवाएं एक बार फिर से शुरू कर दी गई हैं। इसी के साथ प्रशासनिक कामों में लगे चिकित्सकों को ओपीडी में मरीजों को देखने का फरमान जारी कर दिया गया है। इससे कोरोना के कारण अन्य कार्यों में लगे चिकित्सक फिर से सेवा पर लौट चुके हैं। जिले में अलग अलग कार्यों में लगाए गए चिकित्सकों को ओपीडी सेवा के लिए सुरक्षित किया गया है।

कोरोना वायरस के बढ़ते आंकड़ों के बीच जिले में अप्रैल से ओपीडी सेवा बंद कर दी गई थी। अब जब कोरोना वायरस नियंत्रण में आने के बाद प्रदेश सरकार के निर्देशानुसार बीते शुक्रवार से सभी सरकारी अस्पतालों में ओपीडी सेवा एक बार फिर शुरू कर दी गई है। इसी के साथ प्रशासनिक कामों में लगे चिकित्सकों को मुक्त कर अस्पतालों में नियमित ओपीडी सेवा में शामिल होने का निर्देश दिया गया है। ओपीडी सेवा शुरू होने के बाद कोरोना के कारण अलग अलग कार्यों में लगाए गए कुल 71 चिकित्सकों को ओपीडी ड्यूटी के लिए सुरक्षित किया गया है। जिले में कोरोना का ग्राफ बढ़ने पर जिला अस्पताल समेत सभी सीएचसी में ओपीडी सेवाओं को बंद कर दिया गया। इन अस्पतालों में केवल इमेरजेंसी सेवाएं चालू थी। साथ ही चिकित्सकों को कोरोना से जारी लड़ाई में अलग अलग कार्यों में लगाया गया था। किसी को कोविड ट्रेसिंग तो किसी को सैम्पलिंग कार्य के लिए लगाया गया, किसी को क्षेत्र में गांव गांव जाकर कोरोना से बचाव की जिम्मेदारी दी गई थी। कई सीएचसी के चिकित्सकों को कोविड अस्पताल में लगा दिया गया था। लेकिन प्रदेश के साथ साथ जिले में भी अब कोरोना के आंकड़े बेहद कम होने के बाद चिकित्सकों को वहां से मुक्त करते हुए उनकी तैनाती अस्पतालों में भेज दिया गया है। हालाकि अभी बहुत से चिकित्सक ओपीडी के साथ साथ अन्यों कार्यों का भी निर्वहन करेंगे।

इनसेट

गाइडलाइन के तहत देखें जा रहे मरीज-

ओपीडी शुरू होने के बाद अस्पतालों में कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए मरीजों को देखा जा रहा है। भीड़ न हो इसका भी इंतजाम किया गया है। अस्पताल पहुंचने वाले मरीजों को सोशल डिस्टेंसिंग के तहत लाइन में खड़ा किया जाता है और नम्बर आने पर एक एक मरीज को चिकित्सक देख कर उन्हें इलाज मुहैया करा रहे हैं। वहीं इमेरजेंसी की सेवाएं 24 घंटे चालू हैं।

कोट-

निर्देशानुसार अस्पतालों में ओपीडी शुरू हो गई। आने वाले मरीजों को समुचित इलाज मुहैया कराया जा रहा है। अधिकतर चिकित्सकों को ओपीडी में लगा दिया गया है। अभी कुछ चिकित्सक ओपीडी के साथ ही कोविड के कार्य में भी लगे हैं। उन्हें भी ओपीडी में शामिल कर दिया जाएगा।

डा एपी भार्गव, सीएमओ

संबंधित खबरें