DA Image
Sunday, December 5, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

फाइल 3

हिन्दुस्तान टीम,श्रावस्तीNewswrap
Mon, 18 Oct 2021 06:25 PM
फाइल 3

सचित्र

18 एसआरए पीआईसी 4-पंजीकरण कैंप में मौजूद लोग

कैम्प में 510 दिव्यांग बच्चों को चिन्हित किया गया, मिलेगा उपकरण

कैम्प आयोजित

-हरिहरपुररानी व इकौना कैम्प लगाकर दिव्यांग बच्चों का हुआ चिन्हांकन

-24 व 25 नवम्बर को चयनित बच्चों को वितरित होगा सहायक उपकरण

श्रावस्ती। संवाददाता

शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत समस्त बच्चों को शिक्षा की मुख्य धारा से जोड़ने का लक्ष्य है। उस लक्ष्य में विभिन्न श्रेणी के दिव्यागं बच्चे भी शामिल हैं। दिव्यांगता के कारण बच्चे शिक्षा से वंचित न हो इसके लिए उन्हें सहायक उपकरण का वितरण किया जाता है जिसके लिए जिले में कुद 510 बच्चों को चिन्हित किया गया है।

विकास खंड हरिहरपुररानी में सोमवार को कैम्प का आयोजन किया गया। एलिम्को कानपुर के तकनीकी सहयागे से बच्चों की दिव्यांगता के अनुसार उनका परीक्षण करते हुए उन्हें उपकरण दिये जाने को लेकर चिन्हित किए जाने के लिए कैम्प लगाया गया। इसी तरह 16 अक्टूबर को इकौना में भी कैम्प का आयोजन किया गया था। दोनों कैम्पों में कुल 682 दिव्यांग बच्चों ने प्रतिभाग किया। जिसमें से उनकी दिव्यांगता का परीक्षण कर 510 बच्चों को सहायक उपकरण वितरण के लिए चयनित किया गया। कैम्प में चयनित सभी दिव्यांग बच्चों को सहायक उपकरण वितरित किए जाएंगे। बीएसए प्रभुराम चौहान ने बताया कि ऐसे बच्चे जो अपनी गम्भीर दिव्यांगता के कारण विद्यालय जाने में असमर्थ हैं उन बच्चों को भी विद्यालयी शिक्षा से जोड़ने के लिए यह जरूरी है कि उनकी दिव्यांगता को देखते हुए उपकरण प्रदान किये जाये। जिससे दिव्यांग बच्चे भी विद्यालय जा सकें। इसीलिए प्रत्येक वर्ष विभिन्न श्रेणी के दिव्यांग बच्चों को आवश्यक उपकरण प्रदान किये जाने के लिए इस प्रकार का मेजरमेन्ट कैम्प लगाया जाता है जिसमें एलिम्को कानपुर के तकनीकी सहयागे से बच्चों की दिव्यांगता के अनुसार उनका परीक्षण करते हुए उन्हें उपकरण दिये जाने के लिए चयनित किया जाता है। जिला समन्वयक अजीत कुमार उपाध्याय ने बताया कि इकौना के ब्लाक संसाधन केन्द्र में आयोजित मेजरमेन्ट के माध्यम से विभिन्न श्रेणी के दिव्यागं बच्चों को 48 व्हील चेयर, 64 ट्राइसाइकिल, 14 बेल किट, 56 बैशाखी, आठ सीपी चेयर, 14 रोलटेर, 24 एमआर किट, 91 हियरिंग एंड के लिए बच्चों का चयन किया गया है। इन बच्चों को 24 व 25 नवम्बर को सहायक उपकरण का वितरण किया जाएगा। कैम्प में एलिम्को कानपुर के विशेषज्ञ नीरज कुमार, सचिन सक्सेना, हसनैन, मनाजे कुमार आदि मौजूद रहे।

शांतिपूर्ण तरीके से मनाएं त्योहार, अराजकता फैलाने पर होगी कार्रवाई

श्रावस्ती। संवाददाता

बारावफात त्यौहार को लेकर सोमवार को इकौना थाने में पुलिस क्षेत्राधिकारी महेंद्र पाल शर्मा की अध्यक्षता में पीस कमेटी की बैठक आयोजित की गई। बैठक में लोगों से त्योहार को शांतिपूर्वक मनाने की अपील की गई। साथ ही शांति बिगाड़ने व माहौल खराब करने वाले अराजक तत्वों पर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी गई।

सीओ एमपी शर्मा ने कहा कि शांति व्यवस्था के दृष्टिगत पुलिस प्रशासन चौकस हैं। त्यौहार में किसी प्रकार की कोई समस्या ना हो और क्षेत्र में शांति व्यवस्था बनी रहे। यदि किसी के द्वारा किसी भी तरह से कानून का उल्लंघन किया गया तो उसके विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जायेगी। पुलिस लगातार अराजक तत्वों पर नजर रख रही है। उन्होंने कहा कि त्योहार वर्ष में एक बार आते हैं। इसे शांति से मनाने के बजाय कुछ लोग अरजकता फैलाने का काम करते हैं। पुलिस उनसे सख्ती से निपटेगी। उन्होंने लोगों से कहा कि यदि किसी को कोई समस्या होती है तो वे पुलिस को सूचित करें। सीओ ने प्रभारी निरीक्षक को निर्देश दिया कि सुरक्षा के सभी इंतजाम मुकम्मल किए जाय व पुलिस क्षेत्र में गश्त कर शांति व्यवस्था बनाये रखे। कहीं भी कोई समस्या हो या किसी की शिकायत हो तो उसको गंभीरता से लेते हुए समाधान किया जाय। उन्होंने लोगों से उनकी समस्याएं जानी और उसके समाधान के लिए मातहतों को निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि सभी लोगों कोरोना प्रोटोकाल का पालन करना होगा। सभी लोग आपस में मिल जुलकर त्योहार मनाएं। ऐसा कोई काम न करें कि दूसरे को उससे समस्या हो। लोगों की सुरक्षा व समस्या के लिए पुलिस मुश्तैद है। लोग पुलिस को शांति व्यवस्था बनाये रखने में मदद करें जिससे त्योहार को शांति पूर्वक सम्पन्न कराया जा सके।

तीन दिन बाद नदी से बरामद हुआ एक युवक का शव

इकौना। संवाददाता

शनिवार को अंधरपुरवा पुल के पास मूर्ति विसर्जन के दिन नहाते समय दो युवक राप्ती नदी में डूब गए थे। एनडीआरएफ व पुलिस टीमें लगातार दोनों युवकों की तलाश राप्ती नदी में कर रही थी। सोमवार को दो में से एक युवक का शव टीम ने नदी से बरामद कर लिया।

इकौना थाना क्षेत्र के अंधरपुरवा पुल के पास शनिवार को कई गांवों की दुर्गा प्रतिमाएं विसर्जन के लिए लाई गई थी। इस दौरान कोतवाली भिनगा क्षेत्र के ग्राम अकबरपुर चिनकू व सिरसिया थाना क्षेत्र के ग्राम चयपुरवा त्रिलोकी पुत्र दूबर भी विसर्जन कार्यक्रम देखने मौके पर पहुंचे। विसर्जन के बाद दोनों युवक नदी में नहाने लगे और गहरे पानी में जाकर डूब गए। एक बार डूबने के बाद दोनों ऊपर नहीं निकले और पानी में ही लापता हो गए। लोगों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने गोताखोरों से तलाई कराई लेकिन दोनों का कहीं कोई पता नहीं चला। इसके बाद प्रशासन की ओर से युवकों की तलाश के लिए एनडीआरएफ की टीमें लगाई गई जो लगातार युवकों की तलाश नदी में कर रही थी। सोमवार सुबह विसर्जन स्थल के पास ही नदी की बीच धारा में एक शव उफनाकर बहता दिखाई दिया। इस पर एनडीआरएफ की टीमें मोटर बोट से बहते हुए शव का पीछा करने लगी। करीब एक किलोमीटर तक पीछा करने के बाद टीम ने मनकौरा गांव के पास से शव को बाहर निकाल लिया। टीम ने युवकों के परिजनों को मौके पर बुलाकर पहचान कराई तो शव की पहचान त्रिलोकी पुत्र दूबर के रूप में हुई। शव देखते ही परिजनों में कोहराम मच गया। पुलिस ने शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं दूसरे युवक चिनकू की तलाश जारी है।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें