The murder of the daughter of daughter - शूज के फीतों से गला घोटकर दिया गया मां बेटी की हत्या को अंजाम DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शूज के फीतों से गला घोटकर दिया गया मां बेटी की हत्या को अंजाम

झिंझाना थानाक्षेत्र के गांव बिडौली म्यान कस्बा (हरिनगर) में दिल दहला देने वाली मां-बेटी की हत्या से गांव में सन्नाटा पसरा है। ग्रामीणों के मुताबिक घर में घुसे बदमाशों की संख्या पांच थी। हत्या के दौरान बदमाशों ने मां-बेटी को चीखने-चिल्लाने का भी मौका नहीं दिया।

पुलिस को शूज के फीते भी पड़े मिले, जिससे अंदेशा लगाया जा रहा है कि इन फीतों से ही गला घोटकर हत्या को अंजाम दिया गया है। बोरों से शवों के अलावा दो जींस और अन्य कपड़े भी मिले। बिडौली म्यान कस्बे में 48 वर्षीय कमला के पति सहसपाल का एक वर्ष पूर्व निधन हो गया था। पति की मौत के बाद कमला और उसकी 24 वर्षीय बेटी सोनू दोनों अकेले रह रहे थे जबकि बड़ी बेटी बबीता की शादी पहले ही हो चुकी है। मां-बेटी घर में लगी आटे की चक्की से गुजर बसर कर रहे थे। दूसरी ओर, सात साल पहले कमला का बेटा हरेंद्र घर से लापता हो गया था। उसकी गुमशुदगी भी दर्ज कराई गई है। ग्रामीणों के मुताबिक बुधवार रात दोनों मां-बेटी घर में सो रहे थे। पांच बदमाश घर में घुसे। प्रत्यदर्शियों के मुताबिक कुछ ही देर बाद दो लोग बोरों को उठा रहे थे। ग्रामीणों ने समझा कि वह आटा चोरी कर ले जा रहे है। उन्होंने शोर मचाया। हत्या का खुलासा उस समय हुआ, जब पुलिस ने मौके पर पहुंचकर बोरों को देखा। दोनों मां-बेटी के गले में रस्से से गला घोटने के निशान थे। जब पुलिस को बोरे में शूज के फीते भी पड़े मिले तो उसी से अंदाजा लगाया जा रहा है कि इन फीतों से ही दोनों का गला घोटकर हत्या को अंजाम दिया गया है। शव बोरे में डालने के बाद फिर से उनके ऊपर लड़की के कपड़े डालकर ढका गया था। इससे यह भी आशंका जतायी जा रही है कि हत्या को अंजाम देते समय बदमाशों ने उनका मुंह और नाक बंद किए हो या फिर उन्हें कुछ सुंघाकर बेहोश किया गया हो। कारण गला घोटते समय किसी को भी चिल्लाने की आवाज नहीं सुनाई दी। व में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। डीआईजी बोले- शीघ्र होगा खुलासा डीआईजी शरद साचान एवं एसपी अजय पांडेय ने घटनास्थल का बारीकी से मुआयना किया एवं ग्रामीणों से बातचीत कर महत्वपूर्ण जानकारी लुटाई। बताया जा रहा है कि मृतका का परिवार मूल रूप से शामली के गांव काबड़ौत के रहने वाला था। करीब पंद्रह साल पहले गांव छोड़कर बिड़ौली म्यान कस्बे में आकर रहने लगे थे। डीआईजी शरद साचान ने कहा कि महत्वपूर्ण जानकारी मिली है। उन्होंने कहा कि इन सबकों तफ्तीश में शामिल करते हुए जांच की जा रही है। शीघ्र ही खुलासा कर दिया जाएगा। एसपी अजय पांडे ने कहा कि खुलासे को टीम गठित कर दी गई है। शीघ्र ही खुलासा किया जाएगा। सर्विलांस पर लगाए मोबाइल फोनपुलिस को जानकारी मिली है कि घर में दो मोबाइल फोन थे। इनमें तीन सिम प्रयोग किए जा रहे थे। हालांकि मोबाइल का अभी बरामद नहीं हुए है, लेकिन पुलिस ने तीनों मोबाइल नंबरों का पता कर लिया है और उन नंबरों की कॉल डिटेल निकाली जा रही है। कॉल डिटेल में भी पुलिस को महत्वपूर्ण सुराग मिल मिलने संभावना है। पुलिस भर्ती की तैयारी कर रही थी सोनू चौसाना। ग्रामीणों के अनुसार सोनू 12वीं की पढ़ाई के बाद पुलिस भर्ती की तैयारी में लगी थी। वह एनसीसी कैडेट भी रही। मां-बेटी के पास संपत्ति इतनी नहीं थी, जिससे की हत्या का कारण संपत्ति विवाद हो। बिडौली में मां-बेटी की गला घोंटकर हत्या की घटना से हर कोई सन्न है। हत्या के बाद से पूरे गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है। पोस्टमार्टम के बाद करीब चार बजे कमला व सोनू के शव गांव लाए गए। देर शाम दोनों का अन्तिम संस्कार कर दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The murder of the daughter of daughter