DA Image
27 अक्तूबर, 2020|5:56|IST

अगली स्टोरी

कृषि बिलों के विरोध में कलक्ट्रेट पर किसानों के साथ गरजा रालोद

कृषि बिलों के विरोध में कलक्ट्रेट पर किसानों के साथ गरजा रालोद

राष्ट्रीय लोकदल के पदाधिकारियों ने सैकड़ों किसानों को साथ लेकर केन्द्र सरकार द्वारा लागू किए गए कृषि संशोधन बिलों का विरोध करते हुए शामली कलक्ट्रेट में धरना प्रदर्शन किया।

गुरुवार को राष्ट्रीय लोकदल के सैकड़ों कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों ने सैकड़ों किसानों को साथ लेकर शामली कलक्ट्रेट में धरना प्रदर्शन किया। इससे पूर्व कार्यकर्ता पार्टी कार्यालय पर इकट्ठा हुए, जहां से वह अपने ट्रेक्टरों पर सवार होकर हाथों में पार्टी के झंडों के साथ नारेबाजी करते हुए कलक्ट्रेट के लिए रवाना हुए। इस दौरान उन्होने केन्द्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। करीब दो घंटे चले धरना प्रदर्शन के बाद जिलाध्यक्ष योगेन्द्र सिंह चैयरमैन, अशरफ अली खान, वाजिद अली प्रमुख व विक्रांत जावला ने कार्यकर्ताओं को साथ लेकर प्रदेश के राज्यपाल को संबोधित एक ज्ञापन एसडीएम सदर संदीप कुमार को सौंपा। जिसमें उन्होने कहा कि अगर सरकार वास्तव में किसानों का हित चाहती है तो अध्यादेशों में न्यूनतम समर्थन मूल्य से कम कीतम पर फसल खरीदने वाले पर कार्यवाही की जाये। गन्ने का नया पेराई सत्र प्रारंभ होने वाला है। लेकिन किसानों का गत सत्र का बकाया गन्ना भुगतान अभी तक भी नही हो पाया। किसानों का बकाया गन्ना भुगतान ब्याज सहित दिलाया जाये। चीनी मिलों द्वारा गन्ना का नया पैराई सत्र प्रारंभ होने से पूर्व प्रदेश सरकार द्वारा गन्ना लाभकारी मूल्य कम से कम 450 रूपये प्रति कुंटल घोषित किया जाये। इस दौरान पूर्व विधायक राजेश्वर बंसल, युवा प्रदेश महासचिव सचिन सरोहा, आशुतोष पंवार, देशराज भनेडा, रणधावा मलिक, अनवार चौधरी, जय कुमारी, रिशीराज राझड, मुबारक अली, राजीव प्रधान, सर्वेश सिंभालका आदि मौजूद रहे।

कलक्ट्रेट में ट्रैक्टर घुसाने को लेकर हुई रस्साकसी

रालोद कार्यकर्ता व किसान अपने ट्रैक्टर-ट्राली लेकर कलक्ट्रेट के गेट पर पहुंचे तो वहां तैनात पुलिस और पीएसी ने उन्हें आन्दर जाने से रोक दिया। इसको लेकर पुलिस फोर्स से खूब नोंकझोंक हुई। किसानों का रैला बढता देख बाद में कलक्ट्रेट का गेट खोल दिया जिसके बाद टकराव की नौबत समाप्त हो गई।

नारे लिखी तख्तियां लेकर कलक्ट्रेट में किया प्रदर्शन

शामली। गुरुवार को दर्जनों किसानों ने किसान नेता राजन जावला के नेतृत्व में देश के राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन एसडीएम सदर संदीप कुमार को सौंपा। इस दौरान उन्होंने हाथों में नारे लिखी तख्तियां लेकर कलेक्ट्रेट परिसर में प्रदर्शन करते हुए जमकर नारेबाजी की। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा किसान विरोधी तीनों कृषि बिलों को वापस लिया जाए। अध्यादेश लागू करने से किसान बर्बाद हो जाएगा और भुखमरी की कगार पर पहुंच जाएगा। इस अवसर पर सुरेशपाल जावला, दीपक, शहजाद, मोनू, मुजम्मिल चौधरी, सादिक, भावेश चौहान, विनीत कुमार आदि मौजूद रहे हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Rallod thunders with farmers on collectorate in protest of agricultural bills