DA Image
4 जुलाई, 2020|10:24|IST

अगली स्टोरी

मामौर में खनन माफिया ने मोड दी यमुना की धार

default image

यमुना खादर के मामौर में खनन माफियाओं ने तमाम नियम-कायदों को दरकिनार कर यमुना नदी पर अस्थायी पुल बांध दिया है। इतना ही नहीं, प्रतिबंधित मशीनों से जलधारा के बीच से रेत निकालकर यमुना में कुंड बनाए जा रहे हैं, जिसके चलते यमुना की धार भी मोड दी गई है। इससे बरसात के मौसम में बाढ़ की आशंका बढ़ गई है। कैराना के मामौर यमुना खादर क्षेत्र में पांच साल के लिए बालू खनन पट्टा आवंटित है। जहां एनजीटी के आदेशों का पालन और शासन की गाइडलाइन के अनुरूप ही खनन की अनुमति दी गई है। लेकिन, यहां खनन माफियाओं ने तमाम नियम-कायदों को ताक पर रख दिया है।

वैध खनन पट्टे की आड़ में युद्धस्तर पर नियम विरूद्ध खनन का कार्य धड़ल्ले से किया जा रहा है। खनन माफियाओं ने यमुना नदी पर अस्थायी पुल बांध दिया है। इसी पुल के सहारे खनन माफियाओं द्वारा प्रतिबंधित पॉर्कलेन मशीनों से यमुना की मुख्य जलधारा के बीच से रेत निकाली जा रही है, जिसके बाद डंफरों, ट्रकों आदि में ओवरलोड रेत भरकर सप्लाई किया जा रहा है। यमुना नदी के माध्य बांधे गए अस्थायी पुल से जलधारा भी यूपी की तरफ मोड दी गई है। इतने बड़े स्तर पर खनन के कारण बरसात के मौसम में बाढ़ की आशंका और बढ़ गई है, जिसे लेकर निकटवर्ती बाशिंदे डरे-सहमे हुए हैं।पूर्व में भी बांध दिया था पुलमामौर खनन प्वाइंट पहले से ही चर्चाओं में रहा है। 2019 में भी खनन माफियाओं ने यमुना नदी पर बीचों-बीच सीवर पाइपों से अस्थायी पुल बांध दिया था तथा यमुना की जलधारा को मोडते हुए युद्धस्तर पर खनन किया जा रहा था। उस समय मामला सुर्खियों में आने पर प्रशासन हरकत में आया था, जिसके बाद यमुना से अस्थायी पुल को हटवा दिया गया था।कोट-मेरे संज्ञान में ऐसा कोई मामला नहीं हैं। मैं तत्काल मौके पर दिखवाता हूं। यदि यमुना पर अस्थायी पुल बांध दिया गया है और यमुना की दिशा को मोड दिया गया है, तो सख्त कार्रवाई की जाएगी।- देवेंद्र सिंह- एसडीएम कैरानामियादी पटटे की आड़ भडी में अवैध रेत खननचौसाना। संवाददातायमुना नदी के किनारें बंसे भडी गाव में किसान के नाम पर आवंटित मियादी पटटे की आड में धडल्ले से रेत खनन किया जा रहा है। रात्रि नौ बजे के बाद यमुना में जेसीबी व पॉपलेन का इस्तेमाल कर रेत खनन किया जाता है जो सुबह पॉच बजे तक होता है।चौसाना के गांव भडी में शासन स्तर से एक महीने के मियादी पटटे का आवंटन किया गया है ताकि किसान टै्रक्टर-ट्राली रेत उठाकर अपने खेत को समतल कर सकें। लेकिन मियादी पटटे की आड में यमुना नदी से रोजाना पोकलेन और जेसीबी से सैंकडों डम्पर व ट्रक रेत रोजाना निकाला जा रहा है। चौकी प्रभारी रविन्द्र कुमार का कहना है कि पॉच जुलाई तक खनन की अनुमति के साथ कुछ लोग आये थे। ओवरलोड वाहन मिले तो कार्यवाही होगी।किसान की आड मे माफिया चला रहे खानचौसाना।

भडी में यमुना में जारी रेत खनन का पटटा गांव के किसान के नाम पर है। जिसमें किसान अपने खेत के समतल कर सकता हैै। लेकिन किसान का फायदा उठाते हुये खनन के काम से जुडे माफिया यमुना से बडे- बडे वाहनो के जरीये रेत खनन के काम का अंजाम दे रहे है। जिनके सामने पुलिस भी नतमस्तक बनी हुई है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Mining mafia turned Yamuna 39 s edge in Mamaur