अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तेज हवा और बारिश से आफत

  तेज हवा और बारिश से आफत

1 / 2शुक्रवार की दोपहर को तेज हवा के साथ झमाझम बारिश से मौसम सुहावना हो गया। बारिश के चलते शहर में विभिन्न स्थानों पर जलभराव की समस्या से जूझना पड़ा। बारिश जहां फसलों के लिए फायदेमंद साबित हुई है जबकि तेज...

  तेज हवा और बारिश से आफत

2 / 2शुक्रवार की दोपहर को तेज हवा के साथ झमाझम बारिश से मौसम सुहावना हो गया। बारिश के चलते शहर में विभिन्न स्थानों पर जलभराव की समस्या से जूझना पड़ा। बारिश जहां फसलों के लिए फायदेमंद साबित हुई है जबकि तेज...

PreviousNext

शुक्रवार की दोपहर को तेज हवा के साथ झमाझम बारिश से मौसम सुहावना हो गया। बारिश के चलते शहर में विभिन्न स्थानों पर जलभराव की समस्या से जूझना पड़ा। बारिश जहां फसलों के लिए फायदेमंद साबित हुई है जबकि तेज हवा नुकसानदायक रही है।

खेतों में पानी भर जाने से तेज हवा में देहात क्षेत्र में कई स्थानों पर गन्ने एवं चारे आदि की फसल गिर गई। बारिश के चलते कांधला क्षेत्र में तीन मकान गिर गए। इसमें एक महिला घायल हो गयी। शुक्रवार की सुबह मौसम के पूरी तरह साफ था। आसमान में धूप निकली हुई थीलेकिन दोपहर के ढाई बजे आसमान में अचानक काली घटा छा गई। और तेज हवा के साथ बारिश शुरू हो गयी। काले बादलों के कारण एक बार को तो अंधेरा भी छा गया। तेज बारिश होने से थोडी देर में ही शहर के कई हिस्सों में जलभराव हो गया। शहर के माजरा रोड, पंपे वाली गली, रेलवे रोड, नेहरु मार्किट, कोतवाली प्रांगण, कबाडी बाजार, टंकी रोड आदि स्थानों पर जलभराव होने से लोगों को पानी में को होकर गुजरना पड़ा। देर शाम तक आसमान में काले बादल छाए रहे एक रुक-रुककर बारिश होती रही। बारिश के पानी ने नगर पालिका की भी पोल खोलकर रख दी थी। बरसात में शहर में जलभराव होने के बावजूद भी नगर पालिका द्वारा इससे निपटने के कोई उपाय नहीं किए जा रहे हैं और इसका खामियाजा आम लोगों को भुगतना पड रहा है। लोगों का आरोप है कि शहर में गंद्गी का साम्राज्य बना हुआ है। क्षेत्र में बरसात के चलते गिरे कई मकानकांधला। लगातार हो रहीं बरसात के चलते कस्बे और क्षेत्र में कच्चे मकानों का गिरना जारी है। शुक्रवार को क्षेत्र के गांव भभीसा निवासी सतपाल का कच्चा मकान गिर गया। मकान गिरने से पीड़ित का लगभग बीस हजार रूपये नुकसान हो गया। वहीं दूसरी और क्षेत्र के गांव गुर्जरपुर निवासी नेपाल, अरविंद और राजबीर के भी कच्चे मकान गिर गए। मकान गिरने से पीड़ितों का एक लाख रूपये से भी यादा का नुकसान हो गया। पीड़ितों ने जिलाधिकारी शामली इंद्र विक्रम सिंह को पत्र भेजकर मुआवजा दिए जाने की मांग की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Heavy rains on relief from strong wind and rain