DA Image
26 अक्तूबर, 2020|1:08|IST

अगली स्टोरी

भाकियू ने कलक्ट्रेट में प्रदर्शन कर दिया धरना

भाकियू ने कलक्ट्रेट में प्रदर्शन कर दिया धरना

भारतीय किसान यूनियन के दर्जनों पदाधिकारियों ने शामली कलेक्ट्रेट में धरना प्रदर्शन करते हुए देश में बढ़ाएं के पेट्रोल डीजल के दामों को वापस लिए जाने की मांग की है। उन्होंने बिजली की दरों में कमी करने,किसानों के बकाया गन्ना भुगतान को देने, किसान सम्मान निधि का लाभ किसानों को देने और किसानों के उत्पीड़न पर रोक लगाए जाने की मांग की है।

मंगलवार को भारतीय किसान यूनियन के दर्जनों पदाधिकारियों ने प्रदेश प्रवक्ता कुलदीप पंवार के नेतृत्व में शामली कलेक्ट्रेट में धरना प्रदर्शन किया। इस उन्होंने एडीएम कार्यालय के बाहर धरना देते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री को संबोधित एक ज्ञापन एसडीएम सदर को सौंपा। जिसमें उन्होंने कहा कि प्रदेश का किसान नकदी के भारी संकट से जूझ रहा है। जिसका प्रभाव खरीफ की बुवाई पर पड़ रहा है।

कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन के कारण किसानों को भारी नुकसान हुआ है। जिसकी भरपाई के लिए सरकार द्वारा कोई भी सीधी सहायता किसान को नहीं दी गई। उन्होंने कहा कि देश में डीजल के दाम आसमान छू रहे हैं। सीधा असर सार्वजनिक परिवहन माल भाड़े भी किसानों पर पड़ रहा है।

जिससे देश के किसान मजदूर प्रभावित हो रहे हैं। डीजल पेट्रोल पर राज्य सरकार द्वारा लगाए गए टैक्स में कमी की जाए। बिजली की दरों में भी कमी की जाए वर्तमान में खेती के लिए नलकूप पर कम से कम 16 घंटे बिजली दिया जाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि किसान सम्मान निधि का लाभ प्रदेश के 50 प्रतिशत किसानों को नहीं मिल पा रहा है। कार्यालयों के चक्कर लगाने के बावजूद भी किसानों को किस्त जारी नहीं की गई। उन्होंने कहा कि न्यूनतम समर्थन मूल्य को कानून के दायरे में लाकर समर्थन मूल्य के नीचे खरीद करने वालों पर कार्रवाई करते हुए किसानों को प्रत्येक दिन मंडियों में हो रही लूट पर रोक लगाई जाए।

इस अवसर पर जिला पंचायत सदस्य मास्टर जाहिद, योगेंद्र पवार, दीपक शर्मा, प्रदीप त्यागी, अजय तोमर, सुरेश चंद, आमिर अली, पप्पू प्रधान, अजय पिंडोरा, फरहान चौधरी, शहजाद राव, देवराज पहलवान, जावेद जंग, धर्मवीर सिंह आदि मौजूद रहे हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Bakiu staged a demonstration in the Collectorate