ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश शामलीचिकित्सकों के आने से पहले ही जिला अस्पताल के निरीक्षण पर पहुंचे एडी हेल्थ

चिकित्सकों के आने से पहले ही जिला अस्पताल के निरीक्षण पर पहुंचे एडी हेल्थ

सुबह के समय अपर स्वास्थ्य निदेशक(एडी) साढ़े नौ बजे ही जिला अस्पताल के निरीक्षण को पहुंच गए। तब तक अधिकांश अधिकारी एवं चिकित्सक व स्टाफ नहीं पहुंच...

चिकित्सकों के आने से पहले ही जिला अस्पताल के निरीक्षण पर पहुंचे एडी हेल्थ
हिन्दुस्तान टीम,शामलीTue, 14 May 2024 09:55 PM
ऐप पर पढ़ें

सुबह के समय अपर स्वास्थ्य निदेशक(एडी) साढ़े नौ बजे ही जिला अस्पताल के निरीक्षण को पहुंच गए। तब तक अधिकांश अधिकारी एवं चिकित्सक व स्टाफ नहीं पहुंच सका था। इसके बाद एक एक कर साढ़े दस बजे तक ही अधिकारी एवं स्टाफ पहुचे। एडी ने सीएमएस को ओपडी में चिकित्सकों के समय से बैठने की व्यवस्था सुनिश्चत के निर्देश दिए। इसके साथ ही निर्माणाधीन जिले की सीएचसी के निर्माण कार्यो को समय से पूरा करने के भी निर्देश दिये।

मंगलवार को एडी हेल्थ डा. गिरीशचंद नगाई सुबह करीब साढ़े नौ बजे ही अस्पताल पहुंच गए। तब तक चिकित्सक एवं अन्य अधिकारी नहीं पहुंचे थे। उन्होंने अस्पताल में ओपीडी, इमरजेंसी वार्ड में ओटी आदि का निरीक्षण किया। इस दौरान कई चिकित्सक अपने कार्यालयों से नदारद मिले, जिस पर एडी हेल्थ ने नाराजगी व्यक्त की। इसके बाद उन्होने सीएमएस डा. अंजू जोधा को चिकित्सकों के समय से अपने कक्षों में बैठना की व्यावस्था को सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिये है। इसके बाद ऐडी हेल्थ सीएमओ कार्यालय पहुंचे जहां उन्होने स्वास्थ्य विभाग के कार्यक्रमों की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान ऑक्सीजन पाईप लाईन का कार्य पूरा न होने पर वेंडर को कार्य पूरा करने के निर्देश दिये। सीएमओ डा. अनिल कुमार ने बताया कि जिला अस्पताल में 32 बैड की व्यवस्था है, जबकि शामली और झिंझाना को छोडकर सभी सीएचसी में 20 बैंड की व्यावस्था हो गई है। शामली और झिंझाना सीएचसी में जगह उपलब्ध न होने के कारण निर्माण कार्य नही हो पाया है। जिन अस्पतालों को निर्माण कंपनी द्वारा हैंडओवर कर दिया गया है उनमें अभी एचआर की गाईड लाईन नही है। उन्होंने जन्म मृत्यु पंजीकरण की अपडेट करने के निर्देश दिये। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के बारे में विस्तार से जानकारी ली। पीएम भीम कार्यक्रम योजना के अन्तर्गत बन रहे उपकेन्द्रों की जानकारी ली। जिसमें बताया गया कि 21 उपकेन्द्रों में से 14 बन चुके है। इस अवसर पर सीएमओ डा. अनिल कुमार, एसीएमओ डा. अतुल बंसल, डा. जाहिद अली, डा. अथर जमील, डा. विनोद कुमार, डा. अश्वनी कमार, आशुतोष श्रीवास्तव, फहीम अहमद, डा. सुरेन्द्र कुमार आदि मौजूद रहे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें