DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टेंपो पलटने से महिला की मौत, आठ लोग जख्मी

टेंपो पलटने से महिला की मौत, आठ लोग जख्मी

1 / 2सेहरामऊ दक्षिणी में कहेलिया गांव स्थित पुलिया के पास हादसा हो गया। तेजी से मोड़ने पर टेंपो पलट गया। हादसे में एक ही परिवार के कई लोग जख्मी हो गए। जिला अस्पताल में जख्मी महिला को डाक्टरों ने मृत घोषित...

टेंपो पलटने से महिला की मौत, आठ लोग जख्मी

2 / 2सेहरामऊ दक्षिणी में कहेलिया गांव स्थित पुलिया के पास हादसा हो गया। तेजी से मोड़ने पर टेंपो पलट गया। हादसे में एक ही परिवार के कई लोग जख्मी हो गए। जिला अस्पताल में जख्मी महिला को डाक्टरों ने मृत घोषित...

PreviousNext

सेहरामऊ दक्षिणी में कहेलिया गांव स्थित पुलिया के पास हादसा हो गया। तेजी से मोड़ने पर टेंपो पलट गया। हादसे में एक ही परिवार के कई लोग जख्मी हो गए। जिला अस्पताल में जख्मी महिला को डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने पंचनामा भर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। गंभीर रूप से घायल हुए लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया। मामूली रूप से घायल हुए लोगों को उपचार के बाद घर भेज दिया गया।

हरदोई जिले के थाना पाली के महामदपुर गांव निवासी नन्ही देवी की उम्र तकरीबन 40 वर्ष थी। उनका मायका सेहरामऊ दक्षिणी के गौरिया गांव में है। उनके परिवार में भाई की बेटी की शादी थी। सात मई को नन्ही परिवार के लोगों के साथ मायके आईं। शादी समारोह में शामिल हुईं।

बुधवार को जब वह घर से चलीं, तो परिवार के लोगों ने रोक लिया। गुरुवार सुबह नन्ही अपने बेटे अशोक, बहू, जेठानी, भनेज बहू के साथ एक ही टैंपो से वापस घर को जा रही थीं। कहलिया गांव स्थित पुलिया के पास टैंपो पलट गया। चीख-पुकार मच गई। खेतों में काम कर रहे लोग दौड़ पड़े। टैंपो में फंसे लोगों को बाहर निकाला। इसी दौरान पुलिस भी मौके पर पहुंच गई।

एम्बुलेंस व प्राइवेट वाहनों से घायलों को जिला अस्पताल भेजा। जहां डाक्टरों ने चकअप कर नन्ही देवी को मृत घोषित कर दिया। नन्ही देवी के शव को देख उसके परिवार के लोग बिलख पड़े। पुलिस के हाथ जोड़ने लगे। पुलिस ने पीड़ितों को सांत्वना दी। धैर्य रखने के लिए कहा। परिजनों ने बताया कि मृतका की दो बेटी और दो बेटे हैं। खबर सुन सभी बेसुध हो गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Woman killed eight injured in transplant