DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › शाहजहांपुर › यादों को सहेजेगा, नई पीढ़ी को प्रेरित करेगा शहीदों का संग्राहालय
शाहजहांपुर

यादों को सहेजेगा, नई पीढ़ी को प्रेरित करेगा शहीदों का संग्राहालय

हिन्दुस्तान टीम,शाहजहांपुरPublished By: Newswrap
Wed, 01 Sep 2021 03:51 AM
कैंट स्थित संग्राहलय शहीदों की यादों को सहेजेगा। झांसी की रानी के अद्म्य साहस के दर्शन...
1 / 2कैंट स्थित संग्राहलय शहीदों की यादों को सहेजेगा। झांसी की रानी के अद्म्य साहस के दर्शन...
कैंट स्थित संग्राहलय शहीदों की यादों को सहेजेगा। झांसी की रानी के अद्म्य साहस के दर्शन...
2 / 2कैंट स्थित संग्राहलय शहीदों की यादों को सहेजेगा। झांसी की रानी के अद्म्य साहस के दर्शन...

कैंट स्थित संग्राहलय शहीदों की यादों को सहेजेगा। झांसी की रानी के अद्म्य साहस के दर्शन होंगे। वही काकोरी का ट्रेन लूटकांड भी क्रांतिकारियों के जज्बे से युवा पीढ़ी को देश के लिए कुछ कदने की प्रेरणा देगा। आजादी की लड़ाई में अपने जान की बाजी लगाने वाले अनगिनत महापुरुषों की तस्वीरों को संजोया जाएगा। वहीं ईयर फोन से क्रांतिकारियों के बारे में भी जान सकें।

शाहजहांपुर का काकोरी कांड इतिहास के पन्नों में दर्ज हैं। शहीदों की गाथाओं ने हमेशा ही लोगों को देश हित के लिए सोचने मजबूर किया। जिले में कई ऐसी जगह हैं, जो देश के लिए कुर्बानी देने वालों की याद दिलाती हैं। लेकिन, कैंट में स्थित शहीद संग्राहलय इतिहास को समेटेगा। प्रदेश का दुर्लभ संग्राहलय का कोना-कोना संदेश देने वाला होगा।

संग्राहलय का एक पोरशन 1857 की क्रांति को याद दिलाएगा। बड़े से फ्रेम में झांसी की रानी और अंग्रेज आमने-सामने मुचैटा लेते हुए नजर आएंगे। लाइट और संगीत के माध्यम से युद्ध का सचित्र वर्णन देखने को मिल सकता है। वहीं यहां पर मंगल पांडेय, झांसी की रानी समेत तमाम योद्धाओं के पोस्टरों की गैलरी भी लगाई जाएगी।

दूसरा फ्लोर काकोरी कांड के अमर नायकों को समर्पित हैं। लकड़ी के जरिए विशालकाय ट्रेन का निर्माण किया जा रहा। लाइट और साउंड के जरिए खजाना लूटने का अहसास दृश्यों के माध्यम से कराया जाएगा। यहां पर कोर्ट का दृश्य, जेल और सेल्फी प्वाइंट भी बनाया जाएगा। इसके अलावा ईयर फोन के माध्यम से शहीदों की गाथा सुनने की व्यवस्था भी की गई।

संग्राहलय में लगेगी लिफ्ट

=कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना और छावनी परिषद के उपाध्यक्ष अवधेश दीक्षित की निगरानी में चल रहे संग्राहलय का कार्य जोरों पर हैं। यहां पर बाहरी पोरशन में फाउंटेन का निर्माण कराया जा रहा। वहीं अंदर लिफ्ट की व्यवस्था भी की जा रही है।

31 को प्रस्तावित उद्घाटन, योगी और राजनाथ आ सकते

=संग्राहलय का उद्घाटन दो अक्टूबर को होना तय था, पर काम पूरा न होने के चलते 31 को शुभारंभ प्रस्तावित किया है। छावनी परिषद के उपाध्यक्ष अवधेश दीक्षित के भाई पिक्कू दीक्षित ने बताया कि सीएम योगी का आना तो तय है, पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह भी आ सकते हैं। उनके कार्यक्रम के लिए प्रयाास किया जा रहा।

संबंधित खबरें