Take cleanliness wear helmets will not be epilepsy - स्वच्छता अपनाएं, हेलमेट पहनें, रहेंगे सुरक्षित DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्वच्छता अपनाएं, हेलमेट पहनें, रहेंगे सुरक्षित

स्वच्छता अपनाएं, हेलमेट पहनें, रहेंगे सुरक्षित

1 / 2आर्य महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय में मिर्गी रोग पर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस मौके पर केजीएमयू के रिटायर यूरोफिजिशियन प्रो. डॉ अतुल अग्रवाल ने मिर्गी रोग की जानकारी...

स्वच्छता अपनाएं, हेलमेट पहनें, रहेंगे सुरक्षित

2 / 2आर्य महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय में मिर्गी रोग पर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस मौके पर केजीएमयू के रिटायर यूरोफिजिशियन प्रो. डॉ अतुल अग्रवाल ने मिर्गी रोग की जानकारी...

PreviousNext

आर्य महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय में मिर्गी रोग पर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस मौके पर केजीएमयू के रिटायर यूरोफिजिशियन प्रो. डॉ अतुल अग्रवाल ने मिर्गी रोग की जानकारी दी।

सोमवार को हुए कार्यक्रम में डॉ.अतुल ने कहा कि यह रोग कोई भूत-प्रेत बाधा या दैवीय प्रकोप नहीं, बल्कि एक मस्तिष्क रोग है, जिसे दवाओं से ठीक किया जा सकता है। रोगी अपना सामान्य जीवन व्यतीत कर सकता है। यह छूने या साथ में काम करने, खेलने से नहीं फैलता। गंदगी से संक्रमण और सिर में चोट प्रमुख कारण हो सकते हैं। उन्होंने स्वच्छता व हेलमेट पहनने पर जोर दिया।

बताया कि यह एक अनुवांषिक रोग भी नहीं है और नवजात बच्चों या बड़ों किसी में हो सकता है। इस बीच डिग्री कालेज व आर्य कन्या इंटर कालेज की छात्राओं ने मिर्गी रोग से संबंधित प्रश्न पूछकर अपनी जिज्ञासा को शांत किया। प्राचार्य डा.कनकरानी और प्रबंधक डॉ.अमितेश अमित ने अतिथि को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।

डॉ सारिका सक्सेना व डा.श्वेता सक्सेना के संचालन में हुए कार्यक्रम में सुशील अग्रवाल, डॉ. संतोष सक्सेना, डॉ. रूपांशुमाला, डॉ.दुर्गावती सिंह, डा.एमपीएस चौहान, डॉ.विजय गुप्ता, डा.आलोक दीक्षित, डॉ. आशीष गोयल, डॉ. निदा शाहिद, डॉ.गुलशन रस्तोगी, डॉ. मृदुल शुक्ला आदि का सहयोग रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Take cleanliness wear helmets will not be epilepsy