DA Image
8 अगस्त, 2020|8:36|IST

अगली स्टोरी

कुरआन इंसानों के लिए हिदायत : शहर इमाम

कुरआन इंसानों के लिए हिदायत : शहर इमाम

तरावीह में कुरआन मुकम्मल का सिलसिला चल रहा है। कुरान सुनाने वाले हाफिज को फूलमाला पहनाकर नजराने दिए जा रहे हैं। आखिर में फातिहाख्वानी व वतन, कौम की तरक्की और आपसी भाईचारे की दुआ की गई।मोहल्ला महमंद जलालनगर स्थित छोटी मस्जिद में तरावीह की नमाज में कुरान मुकम्मल हो गया।

यहां हाफिज मोहम्मद यामीन को फूलमाला पहनाकर खैरमकदम किया गया और तोहफे व नजराने दिए गए। इसके बाद फातिहाख्वानी का आगाज तिलावते कुरआन-ए-पाक से किया गया। आखिर में शहर इमाम ने दुआ मांगी तो आमीन की सदाओं से फिजा गूंज उठी। फिर सभी को शीरीनी तकसीम की गई। इससे पहले खिताब करते हुए शहर पेश इमाम मौलाना हुजूर अहमद मंजरी ने कहा कि कुरआन इंसानों के लिए हिदायत है।

यह आसमानी किताब रमजान-उल-मुबारक के मुकद्दस महीने में नाजिल हुई। उन्होंने कहा कि रोजा अल्लाह तआला का हुक्म और दीन का एक रुक्न है। यह नफ्स की ख्वाहिशात को पामाल करता है। मौलाना अनीस खां अतहर ने भी खिताब किया।इस मौके पर सपा जिलाध्यक्ष तनवीर खां, हाफिज अब्दुल सलाम, हाफिज फहद, फैयाज, सबील, शाहनवाज, निजामत, शाहबाज, अदनान, मुदस्सिर, हामिद खां, सत्तार खां, तौकीर खां, उजैर खां, मुस्तकीम, निफासत आदि मौजूद रहे।