DA Image
28 जनवरी, 2021|5:10|IST

अगली स्टोरी

अफसरों से हरी झंडी मिलने के बाद ही निकलेगा जुलूस-ए-मोहम्मदी

अफसरों से हरी झंडी मिलने के बाद ही निकलेगा जुलूस-ए-मोहम्मदी

12 रवी उल अव्वल का त्योहार 30 अक्टूबर को मनाया जाएगा। बारावफात के मौके पर निकलने वाले जुलूस पर कोरोना का साया मंडराता दिख रहा है। दावत-ए-इस्लामी ने जुलूस के लिए परमिशन मांगी हैं, हालांकि अधिकारियों ने अभी किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सके हैं। वहीं दूसरी तरफ दावत-ए-इस्लामी के जिला निगरा ने सभी से पूरे जोश के साथ त्योहार को मनाने की अपील की है।शुक्रवार को रेलवे स्टेशन स्थित एक गेस्ट हाउस में पत्रकारों से बातचीत करते हुए जिला निगरा हाफिज अनीस अत्तारी ने कहा कि प्रशासन से जुलूस को लेकर बातचीत हुई है। अधिकारियों ने अभी कोई जवाब नहीं दिया। उनके निर्णय के बाद ही जुलूस को लेकर फैसला किया जाएगा। उन्होंने 12 रवी उल अव्वल के मौके पर मुस्लिम समाज से खुशियां मनाने की अपील की। कहा कि नए कपड़े पहने, घरों में महफिल मीलाए कराएं, दुकानों, घरों और गलियों में इस्लामी झंडे लगाएं। दीनी किताबों, खाने की चीजों का लंगर करें। कोरोना से बचाव के लिए सोशल डिस्टेसिंग का पालन करें। इस मौके पर मोहम्मद खालिद अत्तारी, सईद अत्तारी, मोहम्मद रिजवान अत्तारी, सरताज अत्तारी, हाजी इफ्तेखार, हाजी तनवीर अत्तारी मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Procession-e-Mohammadi will come out only after getting the green signal from the officers