DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नशा मुक्ति अभियान के तहत गोष्ठी का आयोजन

नशा मुक्ति अभियान के तहत गोष्ठी का आयोजन

वीआईपी ग्रुप द्वारा नशा मुक्ति अभियान के लिए एक सेमिनार का आयोजन शंहशाह पैलेस में किया गया। इस सेमिनार में नशे से होने वाले दुष्परिणाम व युवा वर्ग में फैल रही नशा विकृति को कैसे रोका जाए, इस पर विचार विमर्श किया गया।

कार्यक्रम का संचालन कर रहे डॉक्टर वसीम ने नशे से होने वाले दुष्परिणाम से अवगत कराया।

उन्होंने कहा कि नशा एक ऐसी समस्या है, जिसकी जड़ें ज्यादातर घरों तक पहुंच चुकी हैं। यह बुराई विकराल रूप धारण कर रही है। बोले कि समाज से इसे उखाड़ फेंकने के लिए हम सभी को अपना योगदान देना होगा, सबसे अधिक युवा इसकी गिरफ्त में आ रहे हैं। कार्यक्रम की अध्यक्ष डॉ. दीपा सक्सेना ने की।

उन्होंने कहा कि इस मुहिम के तहत हम लोगों को जागरूक करेंगे और ऐसे लोगो को रोल मॉडल बनाएंगे, जो इसकी गिरफ्त से बाहर आ चुके हैं। डॉ. नमिता सिंह ने कहा कि अब खुलेआम नशे का व्यापार हो रहा है। धार्मिक स्थल व स्कूल के पास दुकान खुल रही हैं। प्रशासन से ज्ञापन देकर मांग की जाएगी कि घनी आबादी से इन्हें हटवाया जाए।

स्तुति गुप्ता ने कहा कि लोगों को भी अपने आसपास खुल रही दुकानों का विरोध करना चाहिए। डॉ. हेमेंद्र वर्मा ने कहा कि किसी मीटिंग व आयोजन में शराब का चलन बन्द होना चाहिए। डॉ देशबंधु ने कहा कि यदि प्रत्येक व्यक्ति एक व्यक्ति को नशे की गिरफ्त से छुड़ाए तो बहुत बड़ी समस्या हल होगी। आशीष वर्मा ने कहा कि प्रशासन को भी इस ओर ध्यान देना चाहिए। संस्थापक अभिनय गुप्ता ने कहा कि नशा मुक्ति केंद्र के लिए प्रयास किया जाएगा और लोगो को नशामुक्ति हेतु प्रेरित किया जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Organizing a seminar under the Nasha Mukti Abhiyan