DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्कूल लिंटर हादसे के पीड़ितों को क्षतिपूर्ति देने के आदेश

स्कूल लिंटर हादसे के पीड़ितों को क्षतिपूर्ति देने के आदेश

आरसी मिशन के दून स्कूल लिंटर हादसे में मारे गए मजदूरों के आश्रितों को आखिर न्याय मिल गया। लेवर कोर्ट ने अपने फैसले में स्कूल मालिक और ठेकेदार को हादसे में मारे गए मजदूरों के आश्रितों को क्षतिपूर्ति देने के आदेश दिए हैं।

जिसके बाद अपने परिजनों को खोने का दु:ख और बच्चों की परवरिश की चिंता में डूबे परिवारों को बड़ी राहत मिल सकेगी। पिछले साल अक्टूबर महीने में दून इंटरनेशल स्कूल की निर्माणाधीन बिल्डिंग का लिंटर गिर गया था। जिसमें दबकर तीन मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गई और कई गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

इन्हीं गंभीर रूप से घायलों में शामिल दो मजदूरों की भी इलाज के दौरान मौत हो गई। जिससे उनके परिवारों पर दु:खों का पहाड़ टूट पड़ा। प्रशासन की ओर से मौके पर ही मृतक आश्रितों और घायलों को मदद दिलाने का भरोसा दिलाया गया। लेकिन फौरी राहत के रूप में नाममात्र की मदद दी गई। जिससे मृतक आश्रितों के सामने अपने परिवार का पालन पोषण और बच्चों के भविष्य की चिंता सताने लगी।

काफी इंतजार के बाद भी मृतक आश्रितों और घायलों को प्रशासन और सरकार की ओर से कोई मदद नहीं मिली, लेकिन लेवर कोर्ट में दायर मुकदमें की सुनवाई चलती रही। 10 अप्रैल को लेवर कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया। सहायक श्रम आयुक्त व कर्मचारी प्रतिकर आयुक्त वीरेंद्र पाल ने स्कूल मालिक बृजेश साहनी व ठेकेदार को लिंटर हादसे के मृतक आश्रितों को क्षतिपूर्ति देने के लिए आदेशित किया है। लेवर कोर्ट के आदेश के बाद हादसे में मारे गए लोगों के आश्रितों में एक बार फिर से उम्मीद जागी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Order to compensate victims of School Linter Incident