DA Image
4 दिसंबर, 2020|6:51|IST

अगली स्टोरी

गुरुजनों को एक और काम, हर शिक्षक दस बच्चों को लोड कराएगा दीक्षा एप

गुरुजनों को एक और काम, हर शिक्षक दस बच्चों को लोड कराएगा दीक्षा एप

आरोग्य सेतु एप की तरह अब शिक्षकों को एक बार फिर से मोबाइल एप को डाउनलोड करवाने के लिए लगाया जाएगा। कक्षा एक से आठ तक की शिक्षण सामग्री हर व्यक्ति तक पहुंच सकें। उसके लिए प्रत्येक शिक्षक को दस बच्चों को दीक्षा एप को डाउनलोड कराना होगा। महानिदेशक ने दीक्षा एप के अनुप्रयोग संवर्धन के लिए बीएसए को पत्र भेजकर दिशा-निर्देश दिए हैं।

अभी तक दीक्षा एप शिक्षकों के मोबाइल में मिलता था, परन्तु अब यह छात्र-छात्राओं व उनके अभिभावकों के मोबाइल में मिलेगा। मिशन प्रेरणा की ई-पाठशाला के माध्यम से छात्रों की लर्निंग और विभाग की शीर्ष प्राथमिकताओं को हर व्यक्ति और छात्र तक पहुंचाने का प्लान तैयार किया। इसके तहत हर शिक्षक को दस छात्रों या अभिभावकों को दीक्षा एप को डाउनलोड कराना होगा।

नि:शुल्क उपयोग कर सकेंगे छात्र

दीक्षा एप को अंग्रीकरण को बढ़ाने व पाठ्य पुस्तकों की उत्कृष्ठ डिजिटल शैक्षिक सामग्री तक पहुंच बनाने के प्रयास शुरू हुए। राष्ट्रीय संदर्भदाता समूह के सदस्य डा.अरूण गुप्ता बताते हैं कि दीक्षा एप शिक्षण सामग्री को समझने का एक बेहतर माध्यम हैं। एप का उपयोग कर छात्र-छात्राओं द्वारा सभी कक्षाओं और विषयों के जरूरी टॉपिक से संबंधित डिजिटल कंटेंट सर्च किया जा सकता है। इसका उपयोग पूरी तरह से नि:शुल्क होगा।

दैनिक एक करोड़ कंटेंट प्ले का लक्ष्य रखा

बेसिक शिक्षा विभाग ने पोर्टल पर दैनिक एक करोड़ कंटेंट प्ले का लक्ष्य रखा है। अधिकारियों की मानें तो राज्य स्तर की समीक्षा में सामने आया कि अभी तक परिषदीय विद्यालयों के एक करोड़ 80 लाख व निजी स्कूलों के दो करोड़ के सापेक्ष 30 से 40 लाख छात्र व अभिभावक एप का प्रयोग कर रहे हैं। इसकी आउटरिच बढ़ाने के लिए नई प्लानिंग को तैयार किया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:One more task for the gurus every teacher will load ten children with initiation app