Not going to send messages to the holiday portal BSA dropped - अवकाश पोर्टल पर मैसेज नहीं जा रहे, बीएसए गाज गिरा रहे DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अवकाश पोर्टल पर मैसेज नहीं जा रहे, बीएसए गाज गिरा रहे

अवकाश पोर्टल पर मैसेज नहीं जा रहे, बीएसए गाज गिरा रहे

शिक्षकों के अवकाश की व्यवस्था को पारदर्शी बनाए जाने के लिए पोर्टल व्यवस्था ही गुरुजनों पर कार्रवाई करा रही है। आकस्मिक अवकाश का पोर्टल सही तरीके से काम नहीं कर रहा। ऐसे में गुरुजनों का मैसेज नहीं पहुंच पा रहा है। वहीं दूसरी तरफ विभाग गुरुजनों को ही दोषी मानकर वेतन रोकने की कार्रवाई कर रहा है।

परिषदीय विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों को आकस्मिक अवकाश प्रार्थना पत्र के जरिए मिल जाता था। अवकाशों में गड़बड़ी मिलने के बाद बीएसए राकेश कुमार ने पोर्टल की व्यवस्था को लागू कर दिया। इस पोर्टल पर अवकाश के लिए संबंधित शिक्षक को सीएल एसपीएन लिखकर स्कूल खुलने से पहले भेजा जा सकता है। जिस पर उसकी छुट्टी को मंजूद किया जाता है।

लेकिन, यही पोर्टल शिक्षकों के लिए विलेन बन रहा है। पोर्टल सही तरीके से काम नहीं कर रहा है। उस पर मैसेज नहीं जाते हैं। वहीं दूसरी तरफ निरीक्षण में अनुपस्थित पाए जाने पर शिक्षक को कोई साक्ष्य न होने की बात कहते हुए बीएसए कार्रवाई करने से भी गुरेज नहीं करते हैं। विभाग पोर्टल की तकनीकी खामी को जाने बिना ही संबंधित शिक्षकों को दोषी मान रहा है।

कई शिक्षकों पर गिर चुकी गाज

=पिछले कुछ दिनों में कई शिक्षकों पर पोर्टल की कमी के चलते गाज गिर चुकी है। उन्होंने आकस्मिक अवकाश के लिए स्कूल खुलने से पहले मैसेज भेज दिया। लेकिन, वह ट्रांसफर नहीं हुआ। उस पर लाल रंग का एरर बनकर आ गया। जबकि, दूसरी तरफ विभाग ने संबंधित शिक्षक को अनुपस्थित करार दिया।

बीएसए से मिलेंगे शिक्षक

-तकनीकी कमी के चलते शिक्षकों के उत्पीड़न को लेकर काफी रोष व्याप्त है। शिक्षकों ने एक स्वर से पोर्टल की तकनीकी कमियों को दूर कराने की मांग की है। इस मामले को लेकर बीएसए से मिलकर पूरे मामले को बताया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Not going to send messages to the holiday portal BSA dropped