अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वायरल की चपेट में सबसे ज्यादा बच्चे और बुजुर्ग

वायरल की चपेट में सबसे ज्यादा बच्चे और बुजुर्ग

1 / 2बुखार ने हर दूसरे-तीसरे घर में अपनी दस्तक दे रखी है। हर कोई बुखार से डरने लगा है। सरकारी से लेकर प्राइवेट अस्पताल फुल हो गए हैं। मंगलवार को जिला अस्पताल के ट्रामा सेंटर में बच्चों की संख्या सबसे...

वायरल की चपेट में सबसे ज्यादा बच्चे और बुजुर्ग

2 / 2बुखार ने हर दूसरे-तीसरे घर में अपनी दस्तक दे रखी है। हर कोई बुखार से डरने लगा है। सरकारी से लेकर प्राइवेट अस्पताल फुल हो गए हैं। मंगलवार को जिला अस्पताल के ट्रामा सेंटर में बच्चों की संख्या सबसे...

PreviousNext

बुखार ने हर दूसरे-तीसरे घर में अपनी दस्तक दे रखी है। हर कोई बुखार से डरने लगा है। सरकारी से लेकर प्राइवेट अस्पताल फुल हो गए हैं। मंगलवार को जिला अस्पताल के ट्रामा सेंटर में बच्चों की संख्या सबसे ज्यादा दिखी। पैरेंट्स अपने बच्चों के सिर पर ठंडे पानी की पट्टी रखते हुए नजर आए। डाक्टरों ने भी बच्चों को दुलार किया। सिर पर हाथ फेरा। बोले, ठीक हो जाओगे।

तिलहर के सरौरा गांव की ढाई वर्षीय खुशबू को पिछले कई दिनों से बुखार आ रहा था। मंगलवार दोपहर उसके पिता ने उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया। साथ तिलहर के ही अनिकेत को भी भर्ती कराया। उसे कई दिनों से बुखार आ रहा था। वहीं, कटारा की रहने वाली 16 वर्षीय अलशिफा को भी भर्ती कराया गया। डाक्टरों का कहना है कि वायरल फीवर चल रहा है। ऐसे में सावधानी बरतने की जरुरत है। आमतौर पर वायरल बुखार का पहला लक्षण ठंड लगना होता है। 100 से 103 डिग्री बुखार होना इसका शुरुआती लक्षण हैं। वायरल बुखार से संक्रमित बच्चे को अक्सर पूरे शरीर में दर्द होता है। खासकर बच्चे की पीठ और टांगों में दर्द होता है। वायरल के संक्रमण अलग-अलग प्रकार के होते हैं। ऐसे में बच्चों को चिकित्सक को दिखाकर ही उपचार दिलाएं। साथ ही घर पर साफ-सफाई के अलावा अन्य सावधानियां भीं बरतें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Most Child and Elderly in Viral Grip