DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ज्योतिबा फुले ने विधवा विवाह को समर्थन देकर समाज को नई दिशा दी

ज्योतिबा फुले ने विधवा विवाह को समर्थन देकर समाज को नई दिशा दी

सरदार पटेल हिंदू इंटर कॉलेज में सत्यशोधक समाज के संस्थापक महात्मा ज्योतिबा राव फुले की 191वीं जयंती मनाई गई। यह जयंती पंचशील सोशल वेलफेयर सोसायटी की ओर से आयोजित की गई, जिसमें इस्लामिया इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य साकिर अली ने कहा कि महान समाज सुधारक और मार्गदर्शक थे ज्योतिबा राव फुले।

उन्होंने कहा कि ज्योतिबा राव फुले ने सन 1848 में भारत में प्रथम कन्या पाठशाला की स्थापना कर नवीन समाज सुधार क्रांति को जन्म दिया। वह भारत के महान समाज सुधारक थे। 

प्रधानाचार्य महेश चंद भास्कर ने कहा कि महात्मा ज्योतिबा फुले ने अंधविश्वास व आडंबर का कड़ा विरोध किया और विधवा विवाह का समर्थन कर समाज को नई दिशा दी। पंचशील सोशल वेलफेयर सोसाइटी के अध्यक्ष राम सिंह ने कहा कि किसानों का कोड़ा, गुलामगिरी पुस्तकों की रचना कर समाज की वास्तविक समस्याओं और उनके निराकरण का मार्ग प्रशस्त किया। 

वरिष्ठ प्रवक्ता संजय कपूर ने कहा कि हमें ज्योतिबा फुले की शिक्षाओं से प्रेरणा लेनी चाहिए। इस दौरान एके श्रीवास्तव, कमलेश कुमार, आरपी सिंह, आरडी वर्मा, अनिल कुमार, ज्वाला प्रसाद, प्रेम सिंह, सुशील कुमार, लालमणि, विजय शंकर शुक्ला, संजय अग्निहोत्री, बुधपाल सिंह, बीके वैश्य आदि लोग मौजूद रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता बहोरन लाल ने की। संचालन रामकुमार मौर्य ने किया। राजकुमार, रमेशचंद, सुनील कुमार का कार्यक्रम आयोजन में विशेष सहयोग रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Jyotiba Phule gave new direction to society by supporting widow marriage