DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तिलहर में मेंडू शाह के उर्स में उमड़े अकीदतमंद

तिलहर कस्बे में हजरत सैयद शमशीर अली उर्फ मियां मेन्डू शाह का दो रोजा सालाना उर्स शरीफ कुरआन ख्वानी के साथ शुरू हो गया। इस दौरान अकीदतमंदों ने मजार पर गुलपोशी कर मन्नतें मांगी। कुलशरीफ शुक्रवार सुबह दस बजे हुआ। तिलहर के मोहल्ला कच्चा कटरा स्थित दरगाह पर सज्जादानशीन सैयद इल्तेफात अली उर्फ चांद मियां व सैयद इफ्तेखार अली उर्फ मुन्नन मियां की सरपरस्ती में गुरुवार सुबह कुरआन ख्वानी व फातेहा ख्वानी हुई। इसके बाद मजार पर गुलपोशी व चादरपोशी का सिलसिला शुरू हुआ। अकीदतमंदों ने नज्र व नियाज कराकर मन्नतें व मुरादें मांगी। सज्जादानशीन मुन्नन मियां ने मियां मेन्डू शाह की हयात और खिदमात के बारे में बताया कि हजरत ने ताउम्र दीन को फरोग देने और खिदमते खल्क का फर्ज अंजाम दिया। आपकी हयात हमारे लिये नमूना-ए-अमल है। खानकाह शमसिया के सज्जादानशीन इकबाल हुसैन उर्फफूल मियां की कयादत में मदरसा शमसिया फैजाने हातम के छात्रों ने मदरसा से चादर जुलूस निकाला और मजार पर चादरपोशी कर फातेहा पेश की। उर्स में इकबाल हुसैन उर्फ फूलमियां, खानकाह लियाकती के सज्जादानशीन व शहर पेश इमाम हाजी मोहम्मद स्वालेह उर्फ शददन मियां, शहर काजी मोहम्मद अकरम सलीम, मौलाना अलीमुददीन मौजूद रहे। सज्जादानशीन ने बताया कि कुल शरीफ शुक्रवार सुबह हुआ। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:In the Tilhar Mandu Shah's Urs is unimaginable