DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दहेज हत्या में पति समेत चार को दस साल कैद

दहेज हत्या के मुकदमे में पति समेत चार लोगों को दस-दस साल के कारावास की सजा से दंडित किया गया। जिसमें सास, ससुर और देवर भी शामिल है। पांच साल यह घटना डीएम कम्पाउन्ड में हुई थी। एडीजे ने कारावास के अलावा चारों आरोपियों को जुर्माना से भी दंडित किया। वही ननद को साक्ष्य अभाव में दोष मुक्त किया गया। खुटार के गांव कोल्हू गाढ़ा निवासी राधेश्याम ने थाना सदर बाजार में रिपोर्ट दर्ज कराई कि उसने अपनी बेटी की शादी छह साल शहर के डीएम कम्पांउड कालोनी निवासी जय प्रकाश के साथ की थी। शादी के कुछ समय के बाद से पति जयप्रकाश, सास राजेश्वरी, ससुर राजकुमार, देवर छोटू व ननद सपना पचास हजार रूपया नकद व मोटर साइकिल की अतिरिक्त मांग कर प्रताड़ित करते थे। उसने दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज कराया था। जिसे रिश्तेदारों ने आपस में समझौता करा दिया था। 27 सितम्बर 2012 को सुबह दस बजे सूचना मिली कि उसकी बेटी अरूणेश कुमारी की दहेज के कारण उन लोगों ने मार दिया और श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार करने गये हैं। वह श्मशान घाट पहुंचा तो बेटी का अंतिम संस्कार हो चुका था। उसे अपनी बेटी अरूणेश कुमारी के अंतिम दर्शन नहीं मिल पाया। पुलिस ने घटना की रिपोर्ट आईपीसी की धारा 304 बी,498 ए व दहेज प्रतिषेध अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर विवेचना के बाद मामले को न्यायालय भेजा। एडीजे ने मुकदमे का सत्र परीक्षण कर अभियोजन व बचाव पक्ष के अधिवक्ताओं की बहस सुनी, सहायक शासकीय अधिवक्ता सुनील कुमार सिंह के विधिक तर्को सहमत होते हुए, अभियुक्त पति जयप्रकाश, सास राजेश्वरी, ससुर राजकुमार व देवर छोटू को दस-दस वर्ष कारावास व 24-24 हजार रूपया जुर्माना की सजा से दंडित किया। अभियुक्त ननद सपना को साक्ष्य के अभाव में दोष मुक्त किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:husband sentenced 10 years imprisonment