DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टीबी रोगियों की फीड बैक लेने को जुटा विभाग

टीबी रोगियों की फीड बैक लेने को जुटा विभाग

टीबी जैसे खतरनाक रोग को खत्म करने के लिए जिला क्षय रोग विभाग ने पूरी कसरत शुरू कर दी है। डाट्स का कोर्स पूरा करने वाले मरीजों की स्थिति पर विभाग की नजर बनी रहती है। इसी कड़ी में टीबी दिवस के मौके पर रोग से जीतने वालों से विभाग के प्रतिनिधियों ने मुलाकात की। उनसे परेशानियां भी पूछी।

जिला क्षय रोग केंद्र के बीटीसी अंकुर जोशी ने ओसीएफ की डबल स्टोरी निवासी रुपेंद्र कुमार से मुलाकात की। उनके साथ रुपेंद्र को हर रोज दवा खिलाने वाले जलालनगर बजरिया के डाक्टर जावेद वहाब भी रहे। रुपेंद्र ने बताया कि टीबी जैसे रोग की चपेट में आने के बाद काफी कमजोर हो गए थे। लेकिन, सरकारी दवा खाकर वह पूरी तरह से स्वस्थ्य हो गए हैं। अंकुर जोशी की मानें तो रुपेंद्र की दो साल तक दवा चली थी। उनके इंजेक्शन भी लगे थे। वह अब पूरी तरह से स्वस्थ्य हैं। उन्होंने बताया कि विभाग मरीजों का फीडबैक लेता रहता है। हालांकि, दवा खाने के बाद किसी तरह की मरीज के सामने दिक्कत नहीं आती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Health department is taking feedback