DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जबरदस्ती गन्ना सर्वे चढ़ाने का दबाव बनाने वालों पर होगी कार्रवाई

जबरदस्ती गन्ना सर्वे चढ़ाने का दबाव बनाने वालों पर होगी कार्रवाई

चीनी मिलों और गन्ना विभाग की ओर से संयुक्त रूप से गन्ना सर्वे का काम चल रहा है, जिसको लेकर किसान बिल्कुल भी रुचि नहीं दिखा रहे। इससे जिले में गन्ना सर्वे का काम प्रभावित होने की संभावना है, जिसको ध्यान में रखकर गन्ना सर्वे संबंधी शिकायतों के निस्तारण के लिए विभागीय टोल फ्री नंबर के साथ ही गन्ना विकास निरीक्षकों के नंबर भी जारी किए गए हैं।

मंगलवार को सहायक चीनी आयुक्त संजय कुमार ने निगोही चीनी मिल क्षेत्र के गांवों में चल रहे गन्ना का सर्वे का औचक निरीक्षण किया। जहां उन्होंने गन्ना किसानों से सर्वे के दौरान ही घोषणापत्र को भरकर सर्किल के गन्ना पर्यवेक्षक को उपलब्ध कराने की अपील की। उन्होंने कहा कि गन्ना किसान अपना घोषणा पत्र सही से भरें। इसी के आधार पर किसानों का सट्टा संचालित किया जाएगा।

चीनी मिल व विभागीय सर्वे कर्मी को मौके पर ही किसान को सर्वे स्लिप देने के निर्देश दिए।दूसरे के गन्ने को भी बता रहे अपना सर्वे कर्मियों ने बताया किसानों को बुलाने पर भी वे खेत पर नहीं पहुंच रहे। वहीं कुछ लोग दूसरे की जमीन पर बोए गए गन्ने को अपने नाम से चढ़ाने का दबाव बनाते हैं।

जिस पर सहायक चीनी आयुक्त ने उन्हें निर्भीक रूप सर्वे का काम करने और जोर जबरदस्ती करने वालों की शिकायत ज्येष्ठ गन्ना विकास निरीक्षक से करने के निर्देश दिए। कोई समस्या है ता करें कॉलसर्वे संबंधी समस्याओं के निस्तारण को विभागीय टोल फ्री नंबर 18001213203 व गन्ना विकास निरीक्षक निगोही 7051202514, ज्येष्ठ गन्ना विकास निरीक्षक तिलहर 7081202515, ज्येष्ठ गन्ना विकास निरीक्षक रोजा 7051202516 और ज्येष्ठ गन्ना विकास निरीक्षक पुवायां 7081202517 से संपर्क करने को कहा गया।

30 हजार 841 हेक्टयेर गन्ना क्षेत्रफल होने की संभावना जिला गन्ना अधिकारी खुशीराम ने बताया कि इस बार निगोही चीनी मिल क्षेत्र में 30 हजार 841 हेक्टेयर गन्ना क्षेत्रफल होने की संभावना है। पिछले साल चीनी मिल को 59561 गन्ना किसानों ने गन्ना आपूर्ति किया था। उन सभी किसानों का गन्ना सर्वे जीपीएस के माध्यम से किया जाएगा। उन्होंने किसानों को समय-समय पर अपने खेत में पानी देने एवं निराई गुराई की भी सलाह दी। जिन खेतों में जीएसडी का प्रकोप है उनमें विशेष अभियान चलाकर रोग ग्रसित पौधों को उखाड़कर जलाने या जमीन में गड्ढा खोदकर दवा दें। इस मौके पर ज्येष्ठ गन्ना निरीक्षक निगोही सतेंद्र कुमार उत्तम, गन्ना पर्यवेक्षक गया प्रसाद राठी मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Forces who will be forced to take up the cane survey