DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एकलव्य ने गुरु व शिष्य की गरिमा को बढ़ाया

एकलव्य ने गुरु व शिष्य की गरिमा को बढ़ाया

एकलव्य सेना की ओर से सोमवार को वीर एकलव्य जंयती समारोह का आयोजन किया गया। जिसमें वीर एकलव्य से प्रेरणा लेने का आवाहन हुआ। इस दौरान हाईस्कूल व इंटर के मेधावियों को सम्मानित भी किया गया।

सोमवार को आर्य महिला कालेज में कार्यक्रम का आयोजन हुआ। जिसकी शुरूआत दीप जलाकर किया गया। इसके बाद संगठन के पदाधिकारियों ने वीर एकलव्य के चित्र के सामने दीप जलाया और पुष्प अर्पित किए। बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए।

इस बीच हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षाओं के मेधावियों को प्रमाण पत्र व स्मृति चिंह देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में एकलव्य सेना के जिलाध्यक्ष राजेश कुमार कश्यप ने कहा कि एकलव्य ने गुरु व शिष्य कि गरिमा को चार चांद लगाए। एकलव्य एक होनहार धनुधर रहे, जिनका दुनिया में कोई दूसरा विकल्प नहीं हुआ।

वीर एकलव्य से सभी को प्रेरणा लेने चाहिए। उन्होंने एक श्रेष्ठ शिष्ठ होने का परिचय गुरु दक्षिणा में अपना दाहिन अंगूभ काटकर गुरु के चरणों में रखकर दिया। इस मौक्े पर देवेश त्रिपाठी, पुनीत द्विवेदी, रामकिशोर द्विवेदी, रामनरेश, देवेश त्रिपाठी, अयोध्या प्रसाद, हरिराम कश्यप, पंकज, विशाल, मोनू, पंकज, प्रवीण सक्सेना, कैलाश गुप्ता, अंकित आदि मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Eklavya extended the dignity of the guru and the disciple