Friday, January 21, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश शाहजहांपुरकोलाघाट पुल हादसे की जांच तथा अस्थाई पैन्टून पुल बनबाने की मांग

कोलाघाट पुल हादसे की जांच तथा अस्थाई पैन्टून पुल बनबाने की मांग

हिन्दुस्तान टीम,शाहजहांपुरNewswrap
Tue, 30 Nov 2021 11:10 AM
कोलाघाट पुल हादसे की जांच तथा अस्थाई पैन्टून पुल बनबाने की मांग

लखनऊ को दिल्ली कम दूरी मे तय कराने वाला कोलाघाट पुल अचानक धराशायी होने से लोगो को काफी दिक्कतें झेलनी पङ़ेगी। बदायूं जलालाबाद मार्ग पर रामगंगा-बहगुल नदी पर पर स्थित सूबे का सबसे बड़े पुल का निर्माण सपा सरकार मे हुआ था। बसपा सरकार की शुरूआत मे ही इसका लोकार्पण किया गया था। सोमवार सुबह पुल के अचानक गिर जाने से हर कोई स्तब्ध है। औऱ भयंकर हादसा टलने के लिए ईश्वर को धन्यवाद दे रहा है। पुल के एेक हिस्से के गिरने के बाद क्षेत्र मे सियासत भी शुरू हो गई है। जलालाबाद से दो बार लगातार रहे पूर्व विधायक नीरज कुशवाहा मौर्य ने पुल गिरने की सूचना के बाद तत्काल लखनऊ में उपमुख्यमंत्री तथा लोक निर्माण विभाग का कार्य देख रहे केशव प्रसाद मौर्य से मुलाकात कर घटना के बारे मे अवगत कराया। उन्होंने पत्र सौंपते हुए पुल की उच्च स्तरीय जांच कराकर सेतु निगम के लापरवाह अधिकारियों व कर्मचारियों पर सख्त कार्यवाही करने की मांग की। साथ ही हुए आवागमन सुचारू रूप से हो इसके लिए शीघ्र पैटून पुल के निर्माण की मांग की। उन्होनें दो माह पहले सेतु निगम के अधिकारियों द्वारा करीब 20 दिन तक किये गए इसी पुल के मरम्मत कार्य पर सवाल उठाए है तथा इसकी जांच की मांग की है। पूर्व विधायक ने बताया कि पत्र का संज्ञान लेते हुए उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने पैंटून पुल बनाने की स्वीकृति दे दी है एवं सेतु निगम के एमडी को तलब कर तत्कालीन अधिकारियों कर्मचारियों पर कार्यवाही हेतु निर्देशित किया है।

epaper
सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें