Checking decreasing viewing notice in hotel and malls - होटल और मॉल्स में चेकिंग, कमी देख नोटिस जारी DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

होटल और मॉल्स में चेकिंग, कमी देख नोटिस जारी

होटल और मॉल्स में चेकिंग, कमी देख नोटिस जारी

सूरत के मुंबई-अहमदाबाद हाईवे के पास तक्षशिला कांप्लेक्स में शुक्रवार को लगी आग से 18 छात्रों की मौत हो गई थी। आग से बचने के लिए कई छात्र बिल्डिंग से कूद गए थे। इस अग्निकांड को लोग अपने जहन से नहीं निकाल पा रहे हैं। शाहजहांपुर में ऐसा हादसा रोकने के लिए जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन ने सतर्कता बरतना शुरू कर दिया।

शनिवार देर रात व रविवार को होटल, मॉल, ढाबा व धर्मशालाओं में चेकिंग की। अधिकतर जगहों पर हालत सही नहीं मिले। मानक पूर्ण न होने पर अग्निशमन अधिकारी ने 14 लोगों को नोटिस जारी किए।

रविवार को एडीएम एफआर, सिटी मजिस्ट्रेट अरविंद सिंह, एसपी सिटी दिनेश त्रिपाठी, सीओ सिटी महेंद्र पाल, सीएफओ रेहान अली, एफएसओ यदुनाथ सिंह, इंस्पेक्टर सदर बाजार किरनपाल सिंह ने भारी संख्या में पुलिस बल के साथ चेकिंग की। चेकिंग के दौरान वी-मार्ट में आग बुझाने के उपकरणों को चेक किया। उपकरणों को चलवाकर देखा, लेकिन कोई भी उपकरण चला नहीं सका।

एक उपकरण खराब मिला, जिसको लेकर अधिकारियों ने नाराजगी जताई। अधिकारियों ने कमियों को अपनी डायरी पर नोट किया। सभी अफसरों ने सत्यम होटल, रॉयल पन्ना, महाकाली होटल के रसोईघर, रूम, रेस्टोरेंट आदि को चेक किया। फायर उपकरणों को चलवाकर भी देखा। सुबह में सभी अधिकारी बरेली मोड़ स्थित होटल आल इज वेल, आर्क, रोजा के मेजबान, रेती रोड स्थित इम्पीरिया भी पहुंचे। इससे पहले शनिवार रात अधिकारियों ने रेलवे स्टेशन रोड स्थित होटल पैराडाइज, क्लासिक, ताज, आशियाना, दुर्गा, बसेरा डॉरमेटरी चेक की थी। मिली कमियों को दुरुस्त करने के लिए कहा।

===

14 लोगों को जारी किए नोटिस

-एफएसओ यदुनाथ सिह ने बताया कि अभियान के तहत चेकिंग की गई। कई होटलों पर मानक के अनुरूप उपकरण नहीं मिले, जिसको लेकर 14 लोगों को नोटिस जारी किए गए। होटल मालिकों को एक सप्ताह का समय दिया गया है। अगर एक सप्ताह तक कार्य पूर्ण नहीं कराते, तो कार्रवाई की जाएगी।

===

होटल-मॉल में चेकिंग से हड़कंप

-अधिकारियों ने मॉल, होटल, भीड़-भाड़ वाली बड़ी दुकानों पर चेकिंग की। कहा कि अगर मानक के अनुरूप उपकरण नहीं पाए गए, तो कार्रवाई की जाएगी। आम जनमानस की जिंदगी से खिलवाड़ नहीं होने दिया जाएगा। कहा कि निकासी की रास्ता चौड़ा होना चाहिए। ताकि अग्निकांड या फिर अन्य कोई समस्या के दौरान लोग आसानी से निकल सकें।

===

मॉल में बिजली का तार देख लगाई फटकार

-अग्निशमन अधिकारी ने वी-मार्ट में टेलर की मशीन के पास बिजली का तार देखा। पूछताछ करने पर टेलर ने प्रेस लगाने की बात कही। इस पर अधिकारियों ने नाराजगी जताई। कहा कि अगर तार शार्ट हो जाए और आग जैसी घटना हो जाए, तो कोई भी बच नहीं सकता। ऐसे में इस बिजली के तार को हटवा दिया जाए। मैनेजर ने तुरंत कर्मचारी से तार हटाने के लिए कहा।

===

गलियों के लिए है वाटर मिस्ट गाड़ी

-एफएसओ यदुनाथ सिंह ने बताया कि अगर गली-कूंचों में आग लगती है, तो उसके लिए वाटर मिस्ट गाड़ी है, जो आसानी से पहुंच जाती हैं, लेकिन कॉलर को सही जगह बतानी होगी, ताकि गाड़ी ले जाते समय भटकना न पड़े, जिस कारण समय से मौके पर पहुंच ही न सकें। बताया कि वाटर मिस्ट गाड़ी में 400 लीटर पानी आता है। इसके अलावा तीन बड़ी गाड़ियां हैं। कलान, जलालाबाद, पुवायां, तिलहर में एक-एक गाड़ी है।

===

बहुमंजिला भवनों की अग्नि सुरक्षा

= एक ही प्लग से एक साथ कई विद्युत उपकरणों का प्रयोग न करें।

= भवन के अंदर पटाखे व विस्फोटक वस्तुओं का प्रयोग न करें।

= आग लगने पर जीने से उतरे, लिफ्ट का प्रयोग न करें।

= भवनों में पानी की पर्याप्त उपलब्धता होनी चाहिए।

===

कार्यालयों की अग्नि सुरक्षा

= धूम्रपान न करें।

= बंद करते समय बिजली का स्विच ऑफ कर दें।

= अलमारी, फाइलें, फर्नीचर आदि यथास्थान रखें।

= आग लगने पर निर्धारित पलायन मार्गों का ही प्रयोग करें।

= कार्यालय में नियमानुसार अग्निशमन उपकरणों की व्यवस्था करें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Checking decreasing viewing notice in hotel and malls