DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हर विधानसभा के लिए चक्रवार और टेबलवार खुलेंगे वोट

हर विधानसभा के लिए चक्रवार और टेबलवार खुलेंगे वोट

लोकसभा चुनाव की मतगणना के संबंध में मंगलवार को विकास भवन के सभागार में मीटिंग हुई। जिसमें प्रत्याशियों व उनके एजेंटों को मतगणना व उसकी तैयारियों की जानकारी दी गई। इस दौरान चुनाव आयोग के निर्देशों का सख्ती से पालन कराए जाने और मतगणना को सम्पन्न कराने का निर्णय लिया गया।

जिला निर्वाचन अधिकारी व डीएम अमृत त्रिपाठी ने कहा कि लोकसभा सीट के लिए मतगणना 23 मई को सुबह आठ बजे से रोजा मंडी स्थित वेयरहाउस में होगी। हर विधानसभा के लिए चक्रवार व टेबलवार बूथ खुलेंगे। उन्होंने सभी एआरओ को चक्रवार मतगणना होने की जानकारी हर प्रत्याशी को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

डीएम ने कहा कि प्रत्याशी अपने एजेंटों को निर्धारित जगह पर रहकर काम करने के लिए निर्देशित कर दें। किसी तरह की हरकत करने पर उन्हें मतगणना स्थल से बाहर का रास्ता दिखा दिया जाएगा। एसपी डा. एस चनप्पा ने कहा कि मतगणना को लेकर सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता रहेगी। डीडीओ ने पोस्टल बैलेट के मतों की गिनती व निरस्तीकरण के संबंध में जानकारी दी।

हर विधानसभा के लिए लगेगीं 15 टेबल

मतगणना हाल में हर विधानसभा के 15 टेबल लगाई गई हैं, जिनमें से 14 टेबल पर ईवीएम में डाले गए मतों की गिनती होगी और एक टेबल सहायक निर्वाचन अधिकारी के लिए रहेगी। जिस पर हर टेबल के वोटो का संकलन किया जाएगा। प्रत्याशी को हर टेबल पर एक एजेंट की नियुक्ति के लिए पास उपलब्ध कराए जाएंगे। जिस पास पर टेबल संख्या अंकित रहेगी, एजेंट निर्धारित जगह पर ही उपस्थित रहकर मतगणना की निगरानी करेगा।

ईटीपीबीएस के लिए दस और पोस्टल बैलेट की गणना को सात टेबल

पोस्टल बैलेट की गणना के लिए सात टेबल लगाई गई हैं, जिन पर भी एक-एक एजेंट नियुक्त होगा, जिनके लिए पास उपलब्ध कराया जाएगा। इसी तरह ईटीपीबीएस के पड़े वोटों की गिनती के लिए दस टेबल रहेगीं। हर टेबल पर एक मतगणना पर्यवेक्षक और एक मतगणना सहायक की नियुक्ति होगी। इन टेबल पर मतगणना के लिए प्राथमिक स्तर का काम क्यूआर कोड की स्कैनिंग का होगा।

मंडी गेट पर जमा होगा मोबाइल

ईटीबीपीएस के मतों की गिनती के लिए टेबलों पर नियुक्त मतगणना पर्यवेक्षकों को ओटीपी के लिए मोबाइल के उपयोग की अनुमति होगी। जिस पर ओटीपी की जानकारी के बाद मोबाइल स्विच आफ कर ईटीपीबीएस के सहायक निर्वाचन अधिकारी के पास जमा करना होगा। इन अधिकारियों के अलावा मतगणना स्थल में केवल प्रत्याशियों को ही सुविधा केंद्र तक मोबाइल लाने की अनुमति दी जाएगी और कोई भी मोबाइल नहीं ले जा सकेगा। मोबाइल जमा करने के लिए मंडी गेट पर ही पर्याप्त व्यवस्था की गई है।

पोस्टल बैलेट के मतों की नहीं होगी वीडियोग्राफी

पोस्टल बैलेट में गोपनीयता बनाए रखने के लिए वीडियोग्राफी नहीं कराई जाएगी। जिस टेबल पर पोस्टल बैलेट की गणना होगी पर उस सीसीटीवी भी नहीं लगाया गया है। उन्होंने कहा कि पोस्टल बैलेट से पड़े वोटों की गिनती पहले होगी। इस बार 7109 पोस्टल बैलेट आ चुके हैं। जिसमें कोई भी कमी होने पर उन्हें रिजेक्ट कर दिया जाएगा। मत के रिजेक्ट होने पर कोई शक होने पर एजेंट अपनी आपत्ति दर्ज करा सकेंगे।

प्रत्याशी व एजेंट के सामने खुलेगा स्ट्रांगरूम

मतगणना से पहले स्ट्रांगरूम प्रत्याशी और एजेंट के सामने खोला जाएगा। उसके बाद हर ईवीएम को स्क्वायड की देखरेख में टेबल तक पहुंचाया जाएगा, जिसकी वीडियोग्राफी भी होगी। इसके बाद भी किसी तरह का शक होने पर प्रत्याशी वीडियो फुटेज प्राप्त कर सकेंगे। मतगणना स्थल पर प्रत्याशियों के बैठेने की व्यवस्था आरओ टेबल के पास होगी।

सुविधा साफ्टवेयर पर होगी अपडेट

मीटिंग में प्रत्याशियों को बताया कि चुनाव आयोग के सुविधा साफ्टवेयर पर मतगणना को लेकर सारी अपडेट उपलब्ध रहेगी। इसके लिए प्रत्याशियों के सेंटर पर ही तीन कम्प्यूटर लगाए गए हैं, जिनमें इंटरनेट की सुविधा भी होगी। जिस पर वह सुविधा साफ्टवेयर के माध्यम से राउंड बार अपडेट प्राप्त कर सकेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Chakwar and Tablewar will open for every assembly