DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

न्याय पंचायत प्रभारी से जवाब तलब, दो शिक्षकों का वेतन रोका

परिषदीय विद्यालयों में बच्चों के आधार कार्ड बनवाने में गुरुजी हीला-हवाली पर उतर आए हैं। बच्चों के आधार बनवाने के बजाय छुट्टी का मजा ले रहे हैं। इसी कड़ी में निगोही में आधार कार्ड बनाने गई टीम को वापस लौटना पड़ गया। टीम के सदस्यों का शिक्षकों ने फोन तक रिसीव करना मुनासिब नहीं समझा। रिपोर्ट आने के बाद बीएसए ने सख्ती दिखाई। उन्होंने न्याय पंचायत प्रभारी से जवाब तलब करते हुए दो शिक्षकों का वेतन रोक दिया है।परिषदीय विद्यालयों में नामांकन में फर्जीवाड़ा रोकने के लिए बच्चों के आधार कार्ड बनवाने के निर्देश दिए हैं। इसी कड़ी में एक जून को न्याय पंचायत प्रभारी जयंती मिश्रा के प्राथमिक विद्यालय निगोही प्रथम में आधार कार्ड कैंप लगना था। कैंप के लिए 29 मई को पत्र भी जारी किया था। आधार कार्ड बनवाने वाली टीम स्कूल में पहुंची, लेकिन उस विद्यालय के शिक्षक नहीं पहुंचे। टीम को काफी इंतजार करने के बाद वापस लौटना पड़ा। बीएसए देवेंद्र पांडेय ने लापरवाही मानते हुए न्याय पंचायत प्रभारी से दो दिन में स्पष्टीकरण देने के निर्देश दिए हैं। इसी तरह प्राथमिक विद्यालय निगोही प्रथम की प्रधानाध्यापक मधु सक्सेना व प्राथमिक विद्यालय निगोही की सहायक अध्यापक मुमताज जहां भी अपने स्कूलों में बच्चों का आधार कार्ड बनवाने के लिए नहीं पहुंची। टीमों ने फोन पर संपर्क करना चाहा। शिक्षकों ने कॉल रिसीव नहीं की गई। बीएसए ने दोनों शिक्षकों का वेतन अग्रिम आदेशों तक रोकते हुए स्पष्टीकरण तलब किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:BSA takes action against officers