DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चंद भाजपाइयों ने निकाला पुलिस का पसीना, थाने में धरना, धक्कामुक्की

संशोधित ::चंद भाजपाइयों ने निकाला पुलिस का पसीना, थाने में धरना, धक्कामुक्की

भाजपा के चंद युवा नेताओं ने गुरुवार को सदर थाने में पुलिस का बैंड बजा दिया। छेड़छाड़ के एक आरोपी को बेगुनाह बताते हुए भाजपा के युवा नेता उसे छोड़ने की मांग कर रहे थे, पुलिस आरोप का जेल भेजने पर तुली थी। युवा नेता कह रहे थे कि जब थाने से ही जमानत देने का प्रावधान है तो यह किया जाए। पर सीओ सिटी ने कहा कि आरोपी जेल जाएगा। इस पर नेताओं न थाने गेट पर ही धरना शुरू कर दिया। पुलिस ने जब उन्हें जबरिया उठाने की कोशिश की ताे धक्का मुक्की हो गई। बाद में पुलिस को ही पैर पीछे करने पड़े। आरोपी को थाने से जमानत पर छोड़ना पड़ा।

अभी तीन दिन पहले अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की महिला पदाधिकारी ने दो पूर्व कार्यकर्ताओं पर छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज कराया था। एबीवीपी के सह प्रदेश मंत्री सौरभ सोमवंशी इस मामले के आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर एसपी से मिले थे। एसपी के निर्देश के बाद सदर पुलिस ने एक आरोपी सारंग को पकड़ लिया। इसके बाद सौरभ सोमवंशी के एंटी ग्रुप के भाजपा नेता राजकमल वाजपेई सारंग को छुड़वाने की जुगत में लग गए। राजकमल का कहना है कि लड़कों का बेवजह फंसाया गया। बताया कि साजिश के तहत लड़कों पर मुकदमा लिखाया गया। जिस लड़की ने मुकदमा दर्ज कराया, उसके खिलाफ उन्होंंने सबूत दिखाए। पर पुलिस दोनों आरोपियों को छोड़ने को तैयार ही नहीं थी। तब राजकमल ने थाने में पुलिस से पंगा लिया तो पकड़े गए आरोपी को पुलिस ने जमानत दे दी। इस दौरान हुई धक्का-मुक्की में भाजपा नेता निर्भय की शर्ट फट गई। इसके बाद सीओ अपने आला अधिकारियों से फोन पर वार्ता करने लगे। भाजपा नेता अपने पदाधिकारियों से वार्ता करने लगे।

करीब आधा घंटे बाद सीओ व भाजपा नेता राजकमल के बीच अकेले में बातचीत हुई। पुलिस की सारी कानून की बातें धरी रह गईं। पुलिस को थाने से ही सारंग को जमानत देनी पड़ी। यह था मामला प्रदेश सह मंत्री सौरभ सोमवंशी बताते हैं कि गलत आचरण के कारण अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से सारंग और सत्यम को निकाल दिया गया था। इसके बाद दोनों लड़के सौरभ के एंटी ग्रुप के राजकमल वाजपेई के साथ रहने लगे। राजकमल का कहना है कि दोनों लड़के उनसे जुड़ गए थे, इसलिए दोनों लड़कों को फंसा दिया गया। राजकमल ने कहा कि पूरा फर्जी मुकदमा है। राजकमल का कहना है कि अभी कुछ दिन पहले एक डिग्री कॉलेज की अध्यक्ष के साथ छेड़छाड़ व व्हाट्स एप पर अभद्र टिप्पणी से नाराज होकर सौरभ सोमवंशी ने युवती का साथ दिया। युवती ने सदर थाने में सारंग और सत्यम चौहान के खिलाफ गंभीर धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कराई। बुधवार को सौरभ सोमवंशी ने आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर सीओ सिटी का घेराव किया था। इधर, लड़की ने कहा कि थाने से जमानत देने के बाद आरोपियों से उसे खतरा बढ़ गया है। पुलिस ने दबाव में जमानत दी है, वह मामले को लेकर योगी जी के पास जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:bjp workers create scene at police station