DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › शाहजहांपुर › मरीजों के बाद अब उद्योगों को भी मिलने लगी आक्सीजन
शाहजहांपुर

मरीजों के बाद अब उद्योगों को भी मिलने लगी आक्सीजन

हिन्दुस्तान टीम,शाहजहांपुरPublished By: Newswrap
Thu, 27 May 2021 03:31 AM
मरीजों के बाद अब उद्योगों को भी मिलने लगी आक्सीजन

कोविड-19 के मरीजों की संख्या कम होने के बाद अब आक्सीजन उद्योगों को मिलना भी शुरू हो गई। रोलिंग मिल, कृषि आधारित उद्योगों को सीधे तौर पर लाभ मिलना शुरू हो जाएगा। आक्सीजन का उत्पादन शुरू होने से उद्योगों को काफी राहत मिलेगी। आईआईए ने कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना का आभार व्यक्त किया है।

कोरोना की दूसरी लहर के चलते आक्सीजन की उपलब्धता बढ़ने पर इंडस्ट्रीज के सामने संकट खड़ा हो गया। उद्यमियों ने भी संकट भरे दौर में मानवता दिखाते हुए आक्सीजन का प्रयोग नहीं करने की सहमति दे दी थी। जिसके चलते पूरे प्रदेश में करीब एक से डेढ़ लाख कामकार प्रभावित हुए। रोलिंग मिल,कृषि आधारित उद्योग, कास्ट उद्योग आदि बिना ऑक्सीजन गैस के काम करने में सक्षम नहीं थे। कोविड का प्रकोप कम होने पर उद्यमियों ने अपने कारोबार को पटरी पर लाने का प्रयास शुरू किया।

इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अशोक अग्रवाल के नेतृत्व में चैप्टर चेयरमैन अभिनव ओमर, सचिव शुभम खन्ना,सह चेयरमैन विवेक अग्रवाल,सह सचिव रोहित गोएल व अन्य उद्यमियों ने कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना को कोरोना काल में उद्यमियों पर उत्पन्न हुए संकट के मुद्दे पर ज्ञापन सौंपा।

उद्यमियों ने उद्योग इकाईयों पर आक्सीजन की उपलब्धता न होने का मुद्दा उठाया। जिस पर कैबिनेट मंत्री ने सीएम से वार्ता कर 26 मई से पूर्व कुछ शर्तों के साथ मांग पूरी कराने पर सहमति दी थी। सुरेश खन्ना ने अपना वादा निभाया और आक्सीजन का आदेश करा दिया। उद्योगों को आक्सीजन सशर्त दी गई। जिसमें हर आक्सीजन रिफिलर द्वारा अपनी भंडारण क्षमता का 70 प्रतिशत लिक्विड ऑक्सीजन का भंडार 72 घंटे ऑक्सीजन की आपूर्ति के समतुल्य मेडिकल अस्पतालों के प्रयोजनार्थ रखा जाएगा। उत्पादन की जा रही आक्सीजन की आपूर्ति अस्पतालों के प्रयोजनाार्थ प्राथमिकता के आधार पर करते हुए अवशेष आक्सीजन की आपूर्ति उद्योगों को उनकी मांग के अनुसार की जाए। चैप्टर चेयरमैन अभिनव ओमर ने कैबिनेट मंत्री का आभार जताया। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अशोक अग्रवाल के अथक प्रयासों से यह कार्य संभव हो सका।

संबंधित खबरें