DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राइस मिलर्स को सात साल से नहीं हुआ सूखन का भुगतान

जिला उद्योग बंधु समिति, कानून व सुरक्षा व्यवस्था समिति की बैठक विकास भवन में हुई। जिसमें राइस मिलरों ने सात साल से सूखन का भुगतान नहीं होने के बारे में बताया। इस दौरान डीएम ने उद्यमियों की समस्याओं का समाधान कराने का आश्वासन दिया।

रविवार को बैठक में राइस मिलरों ने कहा कि पीसीएफ से साल 2011 से सूखन का भुगतान नहीं किया है। जिस कारण मिलों को नुकसान उठाना पड़ रहा है। डीएम ने राइस मिलरों को समस्या के समाधान का आश्वासन दिया। साथ ही जिला उद्योग केंद्र को राइस मिलरों के साथ बैठक कर समस्या का निस्तारण कराने के निर्देश दिए। उद्योगपति रामचंद्र सिंघल ने नेशल हाइवे पर रोजा गुड्स रोड के नाम से बने रेलवे माल गोदाम में कोयला उतरने से लोगों को होनी वाली परेशानी से अवगत कराया। जिस पर डीएम ने एडीएम एफआर को अफसरों की कमेटी बनाकर पूरे क्षेत्र को चेक कराने के निर्देश दिए। मिश्रीपुर में जलभराव की समस्या पर एडीएम एफआर को मौके पर जाकर जांच करने व निस्तारण कराने को कहा गया। डीएम ने सभी उद्यमियों से सावन के महीने में कांवड़ लेकर निकलने वाले कावंडियों की सुविधाओं में सहयोग देने की अपील की और अधिक से अधिक पौधारोपण कराने का आवाहन किया। इस मौके पर जिला पंचायत अध्यक्ष अजय प्रतार्प ंसह यादव, उद्यमी मनीष गुप्ता, सुरेश सिंघल, किशन अग्रवाल आदि मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Administration took meeting with rice millers