DA Image
Monday, December 6, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश शाहजहांपुर174 सेंटरों पर 9 चीनी मिलें खरीदेंगी 1.80 लाख किसानों से गन्ना

174 सेंटरों पर 9 चीनी मिलें खरीदेंगी 1.80 लाख किसानों से गन्ना

हिन्दुस्तान टीम,शाहजहांपुरNewswrap
Mon, 01 Nov 2021 03:10 AM
174 सेंटरों पर 9 चीनी मिलें खरीदेंगी 1.80 लाख किसानों से गन्ना

शाहजहांपुर, लखीमपुर और हरदोई की चीनी मिलों का पेराई सत्र जल्द ही शुरू होने वाला है। इससे पहले ही शासन स्तर से सभी चीनी मिलों को पेराई का लक्ष्य निर्धारित कर दिया गया है। साथ ही उनके सेंटर भी निर्धारित कर दिए गए हैं।

अपर मुख्य सचिव चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग संजय आर. भूसरेड्डी ने जिलों की चीनी मिलों के लिये पेराई सत्र 2021-22 के लिये सुरक्षण आदेश जारी कर दिया है। सभी चीनी मिलें 15 दिन के अंदर आवंटित क्रय केन्द्रों की स्थापना कर गन्ना खरीद के लिए सहकारी गन्ना विकास समितियों से अनुबंध करेगी। इस वर्ष जनपद की चीनी मिलों को 425.20 लाख कुंतल गन्ना खरीद का लक्ष्य दिया गया हैl

रोजा चीनी मिल के 46, निगोही चीनी मिल के 52, तिलहर चीनी मिल के 24, मकसूदापुर चीनी मिल के 35 एवं पुवायां चीनी मिल के 2 क्रय केन्द्रों पर गन्ना खरीद होगी। इसके अतिरिक्त लखीमपुर खीरी की अजबापुर चीनी मिल- क्रय केंद्र, हरदोई की लोनी चीनी मिल के 10 क्रय केंद्र, रूपापुर चीनी मिल के 2 क्रय केंद्र एवं बरेली की फरीदपुर चीनी मिल -3 क्रय केन्द्रों पर सम्बंधित गन्ना विकास समितियों के माध्यम से समिति सदस्यों से गन्ना खरीद करेगी। इस प्रकार शाहजहांपुर जिले के 1.80 लाख गन्ना किसानों से 9 चीनी मिलें गन्ना खरीद करेंगी। क्रय केन्द्रों पर तौल लिपिकों की तैनाती ईआरपी के माध्यम से आनलाइन की जायेगी। डीएम शाहजहांपुर के माध्यम से जिन तौल लिपिकों का लाइसेंस जारी किया गया है। वहीं, तौल लिपिक तौल करेंगे। कोई भी तौल लिपिक 15 दिन से अधिक एक क्रय केंद्र पर तौल नहीं कर पायेगा। चीनी मिलों को क्रय केन्द्रों पर पेयजल के लिए नलकूप, पशुओं के पानी पीने के लिए नाद, गन्ना विभाग एवं चीनी मिल के सभी अधिकारियों के सीयूजी नंबर, जिला गन्ना अधिकारी एवं सहायक चीनी आयुक्त से प्रमाणित निरीक्षण पुस्तिका व मानक बांट अनिवार्य रूप से रखने होंगे। प्रत्येक तौल लिपिक चीनी मिल अध्यासी द्वारा प्रदत्त फोटो युक्त पहचान पत्र अपने साथ रखेगा। विगत वर्ष की भाति इस वर्ष भी किसानों को गन्ना पर्ची एसएमएस के माध्यम से उनके मोबाइल पर भेजी जाएगी। मिल गेट पर तौल 24 घंटे होंगी, जबकि क्रय केन्द्रों पर प्रातः 7 बजे से शाम 6 बजे तक होगी।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें