DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  संतकबीरनगर  ›  अम्बेडकर प्रतिमा की स्थाई सुरक्षा के लिए लगेगी जाली व गेट
संतकबीरनगर

अम्बेडकर प्रतिमा की स्थाई सुरक्षा के लिए लगेगी जाली व गेट

हिन्दुस्तान टीम,संतकबीरनगरPublished By: Newswrap
Fri, 25 Jun 2021 04:40 AM
अम्बेडकर प्रतिमा की स्थाई सुरक्षा के लिए लगेगी जाली व गेट

लोहरौली। हिन्दुस्तान संवाद

सेमरियावां ब्लॉक परिसर में शहीद स्मारक बनाया गया है। वीर सपूत वीर अब्दुल हमीद व भीमराव अंबेडकर की मूर्ति स्थापित की गई है। अराजक तत्वों की ओर से अंबेडकर की प्रतिमा से दूसरी बार चश्मा तोड़ दिया। चश्मा तोड़ने की जानकारी होने पर पुलिस प्रशासन में चश्मा लगवा दिया।

बुद्धिस्ट सोसाइटी के कार्यकर्ताओं ने प्रतिमा की स्थाई सुरक्षा व शरारती तत्वों के खिलाफ कार्रवाई व सुरक्षा सहित अन्य बिंदुओं की मांग का ज्ञापन सौंपा था। सोसाइटी की मांग पर थानाध्यक्ष व खंड विकास अधिकारी ने निरीक्षण कर स्थाई सुरक्षा का खाका तैयार किया।

शहीद स्मारक में लगी डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा पर लगे चश्मे को किसी शरारती तत्व ने 22 जून को तोड़ दिया था। चश्मा टूटने की जानकारी होने पर पुलिस प्रशासन ने उसी दिन चश्मा लगवा दिया था। बुद्धिस्ट सोसाइटी के ब्लॉक अध्यक्ष गिरानी लाल, भीम आर्मी के ब्लॉक अध्यक्ष राघवेंद्र, मंगल सिंह, राम जनक, बैरागी, राम निवास, राम सूरत व पलटू राम ने उच्चाधिकारियों से शिकायत की थी की डा.भीमराव अंबेडकर की मूर्ति पर लगे चश्मे को बार-बार गायब कर दिया जा रहा है। शिकायत पर थानाध्यक्ष विनय कुमार पाठक, खंड विकास अधिकारी रेनू चौधरी व कर्मचारियों ने शहीद स्मारक का निरीक्षण किया।

यह यह की प्रमुख मांगें :

1-शहीद स्मारक व शहीद स्मारक में लगे डॉक्टर भीमराव अंबेडकर मूर्ति स्थाई सुरक्षा के लिए जाली व गेट लगाकर स्थाई सुरक्षा प्रदान किया जाए।

2-शहीद स्मारक में सीसीटीवी कैमरा लगाया जाए।

3-शहीद स्मारक व प्रतिमा की नियमित साफ-सफाई कराई जाए।

4-शहीद स्मारक व प्रतिमा में तोड़फोड़ करने वाले के खिलाफ जांच कर कारवाई की जाए।

छह माह पहले भी टूटा था चश्मा

शहीद स्मारक में डा. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा से छह माह पहले भी चश्मा तोड़ कर गायब कर दिया गया था। उस समय भी भीम आर्मी व बुद्धिस्ट सोसाइटी के लोगों ने शिकायत किया था। शिकायत पर पुलिस ने चश्मा लगाया था। मगर चश्मा तोड़ने वाले के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई थी। इस बार भी प्रतिमा पर चश्मा लगवा दिया गया मगर किसी के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई।

संबंधित खबरें