DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  संतकबीरनगर  ›  गैर इरादतन हत्या के चार आरोपितों का जमानत प्रार्थना पत्र निरस्त
संतकबीरनगर

गैर इरादतन हत्या के चार आरोपितों का जमानत प्रार्थना पत्र निरस्त

हिन्दुस्तान टीम,संतकबीरनगरPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 05:40 AM
गैर इरादतन हत्या के चार आरोपितों का जमानत प्रार्थना पत्र निरस्त

संतकबीरनगर। विधि संवाददाता

गैर इरादतन हत्या करने के चार आरोपितों का जमानत प्रार्थना पत्र प्रभारी विशेष न्यायाधीश एससीएसटी एक्ट जैनुद्दीन अंसारी की कोर्ट ने बुधवार को निरस्त कर दिया। आरोपितों में तीन सगे भाई और एक आरोपी का पुत्र है। आरोपी मुन्द्रिका सिंह, लल्लन सिंह, चन्द्रिका सिंह और बब्बन सिंह पर लाठी डंडे से मारकर हत्या करने का आरोप लगाया गया है।

मामला धनघटा थाना क्षेत्र के ग्राम किशुनपुर का है। विशेष लोक अभियोजक आशीष प्रसाद पांडेय ने बताया कि प्रकरण में मृतक के चचेरे भाई जयकरन पुत्र सनेही ने अभियोग पंजीकृत कराया है। उसका आरोप है कि दिनांक 21 मई 2021 को सुबह 7 बजे चचेरा भाई जवाहर लाल पुत्र टीड़ी निवासी ग्राम किशुनपुर अकेले जा रहा था। गांव के मुन्द्रिका सिंह, लल्लन सिंह व चन्द्रिका सिंह पुत्रगण जंगी सिंह और बब्बन सिंह पुत्र चन्द्रिका सिंह पुरानी रंजिश को लेकर लाठी डंडे से मार-पीट कर घायल कर दिए। जाति सूचक गाली देते हुए जान से मारने की धमकी दी। मुन्द्रिका सिंह, लल्लन सिंह, चन्द्रिका सिंह और बब्बन सिंह के जमानत प्रार्थना पत्र का विशेष लोक अभियोजक आशीष प्रसाद पांडेय ने विरोध किया। उनका तर्क था कि आरोपितों ने इस कदर मारा कि घायल को जिला अस्पताल से मेडिकल कालेज गोरखपुर रेफर किया गया। जहां उपचार के दौरान दूसरे दिन जवाहर लाल की मृत्यु हो गई। प्रभारी विशेष न्यायाधीश एससीएसटी एक्ट की कोर्ट ने चारों आरोपितों का जमानत प्रार्थना पत्र निरस्त कर दिया।

संबंधित खबरें