DA Image
1 अगस्त, 2020|4:09|IST

अगली स्टोरी

संतकबीरनगर में 71 मिमी हुई बारिश, शहर जलमग्न

संतकबीरनगर में 71 मिमी हुई बारिश, शहर जलमग्न

जिले में गुरुवार की आधी से शुरू हुई बरसात का सिलसिला दोपहर बाद तक जारी रहा। जिले में औसत बरसात 71 मिमी रिकार्ड की गई। बारिश से शहर से लेकर गांव तक तर-ब-तर हो गए। लोगों को गर्मी से राहत मिली। अधिकतम तापमान 30 डिग्री रिकार्ड किया गया। बारिश से शहर के कई इलाकों में जलभराव हो गया। वहीं निचले स्तर के खेतों में पानी भर गया। धनघटा थाना क्षेत्र स्थित ग्राम पंचायत पचरा में शुक्रवार को तेज बारिश होने से एक टीन शेड मकान गिर गया।

गुरुवार को देर रात से ही झमाझम बरसात शुरू गई। बरसात की वजह से खलीलाबाद के मुख्य मार्केट गोला बाजार में पानी भर गया, जो पूरे दिन जमा रहा। दोपहर तक बूंदाबांदी होने की वजह से सड़कों पर जनता की आमद रफ्त भी कम रही। बारिश के कारण मौसम का आलम यह था कि वही लोग घर से निकले जिन्हें जरूरी काम था। बरसात की वजह से जिला अस्पताल, बरदहिया बाजार, मड़या, मटिहना, विधियानी और स्टेशनपुरवा, मोतीनगर मोहल्ले में पानी भर गया। पानी भरा होने की वजह से लोगों को दुश्वारियों का सामना करना पड़ा। बरसात अधिक होने की वजह से निलचे स्तर के खेत जलमग्न हो गए हैं। धान की फसल के लिए यह बरसात मुफीद मानी जा रही है। जिला कृषि अधिकारी पीसी विश्वकर्मा ने बताया कि यह बरसात धान की फसल के लिए मुफीद है। नरेन्द्रदेव कृषि विवि के मौसम वैज्ञानिक डा. अमरनाथ मिश्र ने बताया कि आगामी 24 घंटे के दौरान पूर्वी उत्तर प्रदेश में हल्के से मध्यम स्तर की बारिश हो सकती है। मगहर में भी मुख्य सड़क पर जल भराव हो गया। लोग पानी निकासी की समस्या से जूझते रहे।

पौली संवाद के अनुसार धनघटा थाना क्षेत्र स्थित ग्राम पंचायत पचरा में शुक्रवार को तेज बारिश होने से एक टीन शेड मकान गिर गया। गाँव निवासी यशोधरा देवी बच्चों के साथ अपने टीनशेड के मकान में सो रही थी। बारिश का पानी घर के चारो तरफ जमा हो गया। तभी अचानक मकान ढह गया। तेज आवाज सुन आसपास के लोग मौके पर जुट गए। परिवार के सभी सदस्यों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया। लेकिन घर में रखा खाद्यान्न एवं जरूरी सामानों का नुकसान हुआ। समाचार लिखे जाने तक कोई राजस्व कर्मी मौके पर नहीं पहुंचा।

मेहदावल बाईपास से लेकर गोलाबाजार तक उफनाया पानी

बरसात के बाद पूरा शहर में सभी नाले उफना गए। शहर की मुख्य मार्केट में गोला बाजार से सड़क पर पानी भरा हुआ दिखने लगा और मोतीनगर उत्तरी दक्षिणी होते हुए बाईपास तक पानी भरा है। तीन किलोमीटर में शहर की मुख्य बाजार लगती है। बरसात की वजह से यहां के लोगों का जीवन नरकीय बन गया है। गोलाबाजार में दुकानदारों को अपनी दुकान तक पहुंचने में जल भराव का सामना करना पड़ा। ग्राहकों को दुकान तक आने के लिए कुछ स्थानों पर ईट बिछाई गई तो कुछ स्थान पर दूध के कैरेट को ही पानी में बिछा दिया गया था। चार पहिया वाहन बाइक सवार को भिगोते हुए निकलते रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:71 mm rain in Santakbir Nagar city submerged