DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › संभल › उलेमाओं ने कहा बरेली में गिरफ्तार किये बकसूरों की हो रिहाई
संभल

उलेमाओं ने कहा बरेली में गिरफ्तार किये बकसूरों की हो रिहाई

हिन्दुस्तान टीम,संभलPublished By: Newswrap
Mon, 11 Oct 2021 07:50 PM
उलेमाओं ने कहा बरेली में गिरफ्तार किये बकसूरों की हो रिहाई

शहर के उलेमाओं ने अपर जिला अधिकारी को मुख्यमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन देकर बरेली शरीफ में अकीदतमंदों के साथ ज्यादती करने वाले पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई के साथ ही गिरफ्तार किये गये बेकसूर लोगों की रिहाई की मांग उठाई।

शहर मुफ्ती कारी मोहम्मद अलाउद्दीन अजमली के नेतृत्व में अपर जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचे उलेमाओं ने अपर जिला अधिकारी कमलेश कुमार अवस्थी को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपते हुए कहा कि बरेली शरीफ में पुलिस ने जो किया उसे लेकर देशभर के अकीदतमंदो में रोष है। कहा गया कि बरेली शरीफ सूफी सुन्नी मसलक की देश की सबसे बड़ी खानकाह है। जो विश्व भर में शांति सद्भावना एवं अमन के लिए हमेशा से प्रयासरत है। यहां बड़ी संख्या में हिंदू मुस्लिम धर्म के अनुयाई अपनी मन्नते मांगने आते हैं। 4 अक्टूबर को उर्स ए रिजवी के अवसर पर बरेली पुलिस प्रशासन ने जो अमानवीय व्यवहार किया उससे लोगों में गुस्सा है। पुलिस प्रशासन ने देश विदेश के जायरीन पर अमानवीय व्यवहार किया। मांग रखी गई की फर्जी मुकदमे तत्काल वापस लिए जाएं। साथ ही इस मामले में दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। जो भी लोग गिरफ्तार हुए हैं उन्हें तत्काल रिहा किया जाए। इस दौरान मौलाना नसीम अख्तर अशरफी, कारी तंजीम आशरफ, मौलाना तौसीफ रजा, मौलाना तालिब मिस्बाही,मुफ्ती अशफाक नईमी, मौलाना जियाउल मुस्तफा, मौलाना फाजिल मिस्बाही, कारी इरफान लतीफी, राहत अजीजी मिस्बाही, कारी अतीकउर्रहमान, कारी नासिर रजा ,मौलाना तालिब रजा आदि लोग मौजूद रहे।

संबंधित खबरें