DA Image
5 दिसंबर, 2020|5:29|IST

अगली स्टोरी

पूर्णिमा पर हजारों श्रद्धालुओं ने गंगा में आस्था की डुबकी लगाकर कमाया पुण्य

default image

पूर्णिमा पर जिले के गंगाघाटों पर शनिवार को हजारों श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। श्रद्धालुओं में गंगा स्नान कर प्रसाद वितरित किया। मंदिरों में पूजा-अर्चना कर दान-पुण्य किया। लोगों ने गंगाघाट पर मुंडन आदि भी कराया और गरीबों को दान दिया। वाहनों की संख्या अधिक होने के कारण राजघाट गंगाघाट पर तीन घंअे तक जाम लगा रहा। जिससे वाहन सवारों को परेशानी हुई।

जिले के गंगाघाट राजघाट, सिसौना डांडा, श्री हरिबाबा बांध धाम आश्रम, साधुमणि गंगाघाट के साथ ही अनुपशहर गंगा पर शनिवार को शरद पूर्णिमा के पावन अवसर पर बदायूं, मुरादाबाद, बरेली, संभल सहित अन्य जनपदों से आए हजारों श्रद्धालुओं ने मोक्ष दायिनी गंगा में आस्था की डुबकी लगाकर धार्मिक अनुष्ठान सम्पन्न किए। शुक्रवार की रात से ही राजघाट गंगाघाट पर भक्तों की भीड़ एकत्र हो गई थी। जहां शुभ मुहूर्त प्रारंभ होते ही हर-हर गंगे के जयकारों के बीच मोक्ष दायिनी में डुबकी लगाने का सिलसिला प्रारंभ हो गया। शनिवार की शाम तक श्रद्धालुओं का गंगा में स्नान करने का सिलसिला जारी रहा। भक्तों ने गंगा स्नान के बाद किनारे पर बैठे पंडितों से भगवान सत्यनारायण की कथा सुनी। राजघाट के प्रसिद्ध मंदिरों में पहुंचकर अपने ईष्ट देवों के समक्ष मत्था टेक पूजा अर्चना की।

.....राजघाट पर लगा जाम.....

संभल। राजघाट गंगाघाट के किनारे वाहन खड़े होने से तीन घंटे तक जाम लगा रहा। जिससे तेज रफ्तार वाहन भी रेंगते हुए दिखाई पड़े। पूर्णिमा पर कई स्थानों पर बड़ी स्वादिष्ट खीर बनाई गई थी। जिसे प्राचीन धार्मिक परंपरा के तहत रातभर चांद की रोशनी में रखा गया था। सोमवार की प्रातः काल होने पर खीर का प्रसाद वितरित किया गया। जिसे पाने के लिए हजारों भक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी। लोगों ने गंगा में डुबकी लगाकर अपने बालों का मुंडन कराया। गरीब-निराश्रितों को भोजन-वस्त्र का दान कर अपने बच्चों की दीर्घायु और कारोबार में प्रगति की कामना भी की।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Thousands of devotees earned virtue by taking a dip of faith in the Ganges on the full moon