ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश संभलमजिस्ट्रेट की मौजूदगी में निकाला गया नवजात का दफन शव

मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में निकाला गया नवजात का दफन शव

कैलादेवी थाना क्षेत्र के गांव रूदायन निवासी ग्रामीण के नवजात की एक माह पूर्व खिरनी में झोलाछाप दंपति के अस्पताल में मौत हो गई थी। ग्रामीण नवजात का...

मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में निकाला गया नवजात का दफन शव
हिन्दुस्तान टीम,संभलFri, 01 Dec 2023 01:45 AM
ऐप पर पढ़ें

कैलादेवी थाना क्षेत्र के गांव रूदायन निवासी ग्रामीण के नवजात की एक माह पूर्व खिरनी में झोलाछाप दंपति के अस्पताल में मौत हो गई थी। ग्रामीण नवजात का शव लेकर जिलाधिकारी के पास पहुंचा था और आरोपी झोलाछाप दंपति के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। मौत का सही कारण जानने के लिए महीनेभर पहले दफन किए गए नवजात के शव को गुरुवार को मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में निकालकर पोस्टमार्टम को भेजा गया।
थानाक्षेत्र के गांव रूदायन निवासी धीरेंद्र की आठ महीने की गर्भवती पत्नी मुन्नी को 30 अक्तूबर को पेट दर्द होने पर परिजन खिरनी में अवैध रूप से संचालित डॉ. छत्रपाल के अस्पताल लेकर पहुंचे थे। वहां झोलाछाप दंपति ने प्रसव के बाद जच्चा-बच्चा को घर भेज दिया था। घर पहुंचते ही हालत बिगड़ने पर परिजन नवजात को झोलाछाप के अस्पताल लेकर पहुंचे थे, लेकिन नवजात ने दम तोड़ दिया था। अगले दिन धीरेंद्र नवजात का शव लेकर जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचा था और आरोपी झोलाछाप दंपति के खिलाफ कार्रवाई की गुहार लगाई थी। जिलाधिकारी मनीष बंसल के आदेश पर डॉ. मनोज चौधरी ने अवैध रूप से घर में चलाए जा रहे अस्पताल को सीज कर दिया था। मामले में कैलादेवी थाने में झोलाछाप दंपति के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था। मौत का सही कारण जानने के लिए दफन किए गए नवजात के शव को एक महीने बाद गुरुवार को मजिस्ट्रेट अनुज कुमार की मौजूदगी में थाना पुलिस ने निकलवाया और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। थानाध्यक्ष संदीप बालियान ने बताया कि दफन किए नवजात के शव को निकलवाकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

दफन किए गए नवजात के शव को मौत का सही कारण जानने के लिए मजिस्ट्रेट व पुलिस की मौजूदगी में निकलवाया गया है। डॉक्टरों के पैनल द्वारा शव का पोस्टमार्टम किया जाएगा। उसके बाद आगे की कार्रवाई होगी। - सुनील कुमार त्रिवेदी, एसडीएम संभल।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें