DA Image
25 सितम्बर, 2020|3:32|IST

अगली स्टोरी

श्री कल्कि महोत्सव का आगाज आज, जुटेंगे साधु-संत और राजनेता

श्री कल्कि महोत्सव का आगाज आज, जुटेंगे साधु-संत और राजनेता

1 / 2संभल के गांव ऐंचौड़ा कम्बोह में स्थित श्री कल्कि धाम में पांच दिवसीय श्री कल्कि महोत्सव का आगाज शुक्रवार को...

श्री कल्कि महोत्सव का आगाज आज, जुटेंगे साधु-संत और राजनेता

2 / 2संभल के गांव ऐंचौड़ा कम्बोह में स्थित श्री कल्कि धाम में पांच दिवसीय श्री कल्कि महोत्सव का आगाज शुक्रवार को...

PreviousNext

संभल के गांव ऐंचौड़ा कम्बोह में स्थित श्री कल्कि धाम में पांच दिवसीय श्री कल्कि महोत्सव का आगाज शुक्रवार को होगा। आचार्य प्रमोद कृष्णम के सानिध्य में होने वाले महोत्सव से संबंधित सभी तैयारियां पूरी कर ली गईं। वहीं पुलिस प्रशासन ने भी सुरक्षा इंतजामों का खाका खींच लिया।

श्री कल्कि महोत्सव के लिए विशाल पंडाल के अलावा साधु-संतों और वीआईपी के लिए कुटियों का निर्माण कराया गया है। शुक्रवार से शुरु होने वाले महोत्सव में प्रतिदिन सुबह सात बजे से आठ बजे तक योग शिविर आयोजित होगा। जबकि नौ बजे से दस बजे तक 108 कुंडीय कष्टहर्ता महायज्ञ में आहुतियां दी जाएंगी। ग्यारह बजे से एक बजे तक भोजन प्रसाद की व्यवस्था रहेगी। दोपहर ढाई बजे से साढ़े पांच बजे तक श्रीराम कथा का आयोजन होगा। जबकि शाम साढ़े सात बजे से रात दस बजे तक सांस्कृतिक संध्या होगी। महोत्सव का आगाज शुक्रवार को होगा। जिसमें मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और यूपी सरकार में पूर्व कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह पहुंचेंगे। वीआईपी का कार्यक्रम प्राप्त हो गया। इस बीच महोत्सव में शामिल होने के लिए बाहर से साधु-संत पहुंचने लगे। गुरुवार को आचार्य प्रमोद कृष्णम ने महोत्सव स्थल पर तैयारियों को जायजा लिया। उन्होंने सेवादारों को जरूरी निर्देश दिए। देरशाम तक महोत्सव को लेकर सभी तैयारियों को अंतिम रूप दे दिया गया। पुलिस प्रशासन ने भी महोत्सव में आने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा को लेकर पुख्ता इंतजाम किए। महोत्सव स्थल पर अधिकारियों के साथ ही भारी तादाद में पुलिस बल मुस्तैद रहेगा। श्रीराम कथा से पूर्व निकली भव्य कलशयात्रा

श्री कल्कि महोत्सव में श्रीराम कथा से पहले गुरुवार को गांव ऐंचौड़ा कम्बोह में भव्य कलशयात्रा निकाली गई। जिसमें तमाम महिलाएं सिर पर कलश रखकर निकलीं। एक रथ पर कथा व्यास अतुल रामायणी सवार रहे। जबकि दूसरे रथ पर श्रीराम, लक्ष्मण, सीता, हनुमान और राधा-कृष्ण की झांकी रही। इसके अलावा श्रीराम द्वारा रावण वध की झांकी भी शामिल रही। झांकियों के नजारे ने श्रद्धालुओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। गांव के विभिन्न मार्गों से होकर गुजरी कलशयात्रा का स्वागत हुआ। दर्शकों ने श्रीराम और श्री कल्कि भगवान के जयकारे लगाकर माहौल को भक्तिमय बनाया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Sree Kalki Festival begins today saints and politicians will gather