Sarita boosts the Sambhhal in Asian Games - सरिता ने एशियन गेम्स में बढ़ाया संभल का मान DA Image
18 फरवरी, 2020|3:35|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरिता ने एशियन गेम्स में बढ़ाया संभल का मान

सरिता ने एशियन गेम्स में बढ़ाया संभल का मान

दृढ़ संकल्प, जज्बा और जुनून से मंजिल हासिल करने के साथ ही देश और विदेश में परचम लहराया जा सकता है। यह पंक्ति संभल की सरिता सिंह पर सटीक बैठती है। वर्ष 2018 में सरिता ने कड़ी मेहनत और लगन से न सिर्फ एशियन गेम्स में 62.03 मीटर थ्रो करके पांचवां स्थान प्राप्त किया बल्कि क्षेत्र का मान और सम्मान भी बढ़ाया। हालांकि सरिता गोल्ड मैडल से चूक गईं पर वह फिर से अभ्यास में जुटी हैं। उनकी ललक और प्रयास से परिजन भी उत्साहित हैं। बदलते दौर में महिलाएं पुरुषों की बराबरी करती दिख रही हैं। सरकारी सेवा हो या फिर खेल क्षेत्र, इसमें महिला वर्ग सितारों की तरह चमक रहा है। इन्हीं में एक नाम है सरिता सिंह। संभल के गांव परियावली निवासी रोमित सिंह की पत्नी सरिता सिंह हैमर थ्रो खिलाड़ी हैं। इस साल में सरिता ने कई उपलब्धियां हासिल कीं। असम के गुवाहाटी में 58 वीं सीनियर स्टेट चैंपियनशिप में 63.28 मीटर थ्रो करके गोल्ड मैडल अपने नाम किया बल्कि इंडोनेशिया के जर्काता में हुए एशियन गेम्स में भी हिस्सा लिया। कड़ी मेहनत और अभ्यास का ही परिणाम रहा कि सरिता ने अगस्त में हुए एशियन गेम्स में छाप छोड़ी। हालांकि सरिता 62.03 मीटर थ्रो करके पांचवें स्थान पर रहीं पर उनका आत्मविश्वास और बढ़ गया। वर्तमान में सरिता अगले एशियन गेम्स में गोल्ड मैडल लाने के लिए कड़े अभ्यास में जुटी हैं। सरिता की सफलता से परिजन गर्व महसूस करते हैं। परिजनों ही नहीं बल्कि संभल के लोगों को भी नाज है कि सरिता ने एशियन गेम्स में हिस्सा लेकर नाम रोशन किया है। इनसेट - ......अभ्यास में बहाती हैं पसीना.....संभल। सरिता सिंह की दिनचर्या का अहम हिस्सा अभ्यास है। रोजाना सुबह करीब तीन घंटे तक ग्राउंड पर रहकर अभ्यास करती हैं। शाम को भी इतने की वक्त प्रैक्टिस करके पसीना बहाती हैं। सरिता ने गोल्ड मैडल लाने का सपना देखा है। वर्ष 2022 में होने वाले एशियन गेम्स और कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा लेने का इंतजार कर रही हैं। प्रोफाइल - नाम - सरिता सिंह खिलाड़ी-हैमर थ्रोपति का नाम-रोमित सिंहनिवासी - गांव परियावली उपलब्धि - 1 जून से 4 जून 2017 - पंजाब के पटियाला में फेडरेशन कप नेशनल सीनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप में सीजन बेस्ट करते हुए राष्ट्रीय रिकार्ड बनाया। 65.25 मीटर थ्रो लगाकर गोल्ड मैडल जीता। 26 से 29 जून 2018 - असम के गुवाहाटी में 58वीं सीनियर स्टेट चैंपियनशिप में 63.28 मीटर थ्रो करके गोल्ड मैडल जीता और इंडोनेशिया के जकार्ता में होने वाले एशियन गेम्स के लिए उनका चयन हुआ। 25 अगस्त 2018 - इंडोनेशिया के जकार्ता में हुए एशियन गेम्स में 62.03 मीटर थ्रो किया और पांचवें स्थान पर रहीं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Sarita boosts the Sambhhal in Asian Games