DA Image
7 अगस्त, 2020|5:59|IST

अगली स्टोरी

इमरजेंसी सेवाओं के लिए ही खोले जायें निजी अस्पताल: कमिश्नर

default image

मंडलायुक्त व जनपद के नोडल अधिकारी वीरेंद्र कुमार सिंह ने जनपद के निजी चिकित्सकों के साथ बैठक में कहा कि केवल इमरजेंसी सेवा के लिए ही निजी अस्पताल खुलेंगे। मरीजों की पूरी पहचान का डाटा अपने पास रखने के साथ ही डाक्टर खुद लॉकडाउन का पालन करें और अपने स्टाफ से भी करायें।

संभल कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में मंडलायुक्त वीरेंद्र सिंह ने कहा कि केवल वही चिकित्सालय व हास्पिटल खुलेंगे जिनमें इमरजेंसी सुविधा उपलब्ध होंगी। डाक्टर जिस भी मरीज को अपने हास्पिटल में भर्ती करें उसकी पहचान के प्रमाण पत्र अवश्य अपने पास रखें। मरीज के साथ आने वाले घर के सदस्यों व तीमारदारों को हास्पिटल के अंदर नहीं आने दिया जाए। ओपीडी अस्पताल से बाहर हो ऐसा सुनिश्चित किया जाए। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए। आईजी अमित चंद्रा ने कहा कि डाक्टरों व अन्य चिकित्साकर्मियों की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं। जिलाधिकारी अविनाशकृष्ण सिंह ने निर्देश दिए कि इमरजेंसी सेवा के लिए खुलने वाले निजी अस्पतालों को भी पूरी कर सेनेटाइज कराना सुनिश्चित किया जाए। निजी डाक्टरों द्वारा लाकडाउन का पालन कराते हुए स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराई जायें। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। आईएमए संभल की अध्यक्ष डा. रितु सक्सैना व अन्य पदाधिकारियों ने शासन प्रशासन के निर्देशों का ध्यान रखते हुए ही काम करने का आश्वासन दिया। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद, एडीएम कमलेश कुमार अवस्थी, सीएमओ डा़ अमिता सिंह सहित जिलेभर के निजी चिकित्सक मौजूद रहे।

क्वारन्टाइन सेंटर बनाने को अफसरों ने किया निरीक्षण

इस्लामनगर रोड स्थित रिसोर्ट को क्वारन्टाइन सेंटर बनाए जाने का निर्णय लिया गया। जिसमें व्यवस्थाओं का जायजा लेने के लिए कमिश्नर मुरादाबाद वीरेंद्र सिंह व आईजी अमित चंद्रा अफसरों की टीम के साथ पहुंचे। जहां पर उन्होंने निरीक्षण किया क्वारन्टाइन में रखे जाने को लेकर व्यावस्था दुरुस्त करने की बात कही।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Private hospitals should be opened only for emergency services commissioner